लालू यादव से मुलाकात करना हुआ मुश्किल, बिना इजाजत के मिले तो होंगे क्वारंटाइन

0
39

चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू यादव की तबीयत खराब होने के कारण रांची के रिम्स अस्पताल में इलाजरत हैं. कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए उन्हें रिम्स निदेशक के बंगले में शिफ्ट किया गया है. इधर बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर लालू यादव के पास मिलने वालों नेताओं की संख्या में इजाफा हुआ है. ऐसे में विपक्ष ने रांची के कोरोना गाइडलाइन का पालन सही नहीं होने का आरोप लगाया है.

रांची जिला प्रशासन ने बुधवार को एक बैठक की है जिसमें राजधानी रांची में कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने की बात कही गई है. जारी गाइडलाइन के अऩुसार अगर लालू यादव से बिहार से कोई मुलाकात करने पहुंचता है तो अब उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. क्योंकि कि दूसरे राज्य से मुलाकात करनेवालों को 14 दिनों के क्वारंटाइन किया जा सकता है.

इस पूरे मामले को लेकर रांची के डीसी छवि रंजन ने बताया कि जो लोग भी दूसरे प्रदेशों से झारखंड आते हैं उन्हें सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत क्वारंटाइन होना पड़ेगा. उन्होंने यह भी कहा है कि राजद सुप्रीमो लालू यादव से मुलाकात करने जो लोग आते हैं और अगर वे जिला प्रशासन से इसके लिए संपर्क नहीं करेंगे तो उन्हें बी क्वारंटाइन किया जाएगा. हालांकि लालू यादव का लगातार बिहार के राजनेताओं से हो रही मुलाकात पर कैसे नजर रखेगा इसके बारे में उन्होंने कुछ नहीं कहा है.

आपको बता दें कि बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बिहार के राजनेता रांची लालू यादव के पासपहुंच रहे हैं और राजद से टिकट की गुहार लगा रहे हैं. आपको बता दें कि बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने नेताओं को मिलने को लेकर कई गंभीर आरोप लगाए है और उधर झारखंड बीजेपी ने भी इसका विरोध किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here