जेएसीपी कार्यकर्ताओं ने 3 घंटे तक प्रोवीसी को बनाया बंधक, काटा बिजली कनेक्शन, गर्मी से व्याकुल हुए प्रोवीसी…..

0
431

भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय (बीएनएमयू) के लिए स्नातक प्रथम खंड में नामांकन मकड़जाल बन गई है। यहां नामांकन शुरू होने के बाद से प्रतिदिन छात्रों का आंदोलन जारी है। छात्रों का आरोप है कि कॉलेजों द्वारा एडमिशन लेने में मनमानी किया जा रहा है। लेकिन विवि प्रशासन कॉलेज पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

इसको लेकर जाप कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को विवि बंद कराया था। वहीं शुक्रवार को विवि के प्रोवीसी को ही बंधक लिया। जाप कार्यकर्ताओं ने प्रोवीसी डॉ. फारुक अली उनके कार्यालय में ही 3 घंटे तक बंधक में बना लिया। बंधक ही नहीं बनाया बल्कि प्रोवीसी कार्यालय का बिजली कनेक्शन भी बाहर से ऑफ कर दिया।

छात्रों से वार्ता करते सीओ

उमस भरी गर्मी में बिजली कनेक्शन काट देने से कार्यालय में बैठे प्रोवीसी डॉ. अली व्याकुल हो गए। कार्यालय के बाहर लगे प्रोवीसी के नेम प्लेट को भी तोड़ दिया गया। छात्राें का कहना था कि विवि प्रशासन कॉलेजों को मनमानी करने की खुली छूट दे रखी है। जिस कारण से सीट रहते हुए भी कॉलेज द्वारा छात्रों का नामांकन नहीं लिया जा रहा है। छात्रों से एडमिशन के नाम पर कॉलेज के दलालों द्वारा छात्रों से 5-6 हजार रूपए वसूला जा रहा है।

विवि प्रशासन कॉलेज के मनमानी पर नहीं लगा पा रहे हैं अंकुश :

जेएसीसी छात्र नेता सह विवि छात्र संघ काउंसिल मेंबर राजू कुमार मन्नू के नेतृत्व में छात्रों का एक प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार को प्रतिकुलपति ने मिलने उनके कार्यालय गए हुए थे। छात्र नेताओं ने प्रतिकुलपति से नामांकन में कॉलेजों द्वारा किए जा रहे मनमानी की शिकायत की।

छात्रों की शिकायत पर प्रति कुलपति ने कहा कि कॉलेज एडमिशन नहीं ले रहे हैं तो हम क्या कर सकते हैं। यहां सीट खाली नहीं है तो कहीं और जाकर एडमिशन लें। इस बात को लेकर जेएसीपी कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए और प्रति कुलपति को उनके कार्यालय में बंधक बनाकर बाहर धरना पर बैठ गए।

छात्र नेता अजय यादव ने बताया कि गुरुवार को कुलपति व प्रतिकुलपति ने आश्वासन दिया था कि जिस कॉलेज में सीट खाली है, वहां छात्रों का एडमिशन लिया जाएगा। लेकिन शुक्रवार को किसी भी कॉलेज में इसका पालन नहीं किया गया। इससे छात्रों को कॉलेज दर कॉलेज भटकना पड़ रहा है। लेकिन विवि प्रशासन छात्रों की समस्या से बेखबर है।

शाम चार बजे बंधक बने प्रोवीसी को निकाला गया :

विवि के अधिकारियों ने जेएसीपी र्कायकर्ताओं को काफी समझाने का प्रयास किया। लेकिन वे लोग प्रोवीसी को नहीं छोड़ रहे थे। बाद में अंचलाधिकारी वीरेंद्र कुमार झा और सदर थाना पुलिस भी विवि पहुंची।

काफी प्रयास के बाद जेएसीपी कार्यकर्ता प्रोवीसी के कार्यालय का गेट खोला। प्रोवीसी ने सभी प्राचार्याें की बैठक शाम पांच बजे बुलाई है। इसमें नामांकन में हो रहे गड़बड़ी की शिकायत पर विचार-विमर्श किया जाएगा। इस दौरान छात्र संघ अध्यक्ष कुमार गौतम, जिलाध्यक्ष रौशन कुमार बिट्टू, विवि अध्यक्ष अमन कुमार रितेश, मीडिया प्रभारी ई. मुरारी कुमार सहित काफी संख्या में छात्र नेता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here