जानिये काले चने के इन फायदों को

0
2076

चने 2 प्रकार के होते है,काबुली और देशी, देसी चने छोटे और अंदर से पीले रंगके होते है,जबकि काबुली चने बड़े और अंदर-बाहर दोनों तरफ से सफेद रंग के होते है| देसी चनो को ही धुप में सुखाकर काले रंग के चने बनाये जाते है,इनकी खुशबू और अंदर से पीलापन देसी चनो जैसा ही होता है| इसका उपयोग खाने में बेसन, कढ़ी और विभिन्न तरह के पकवान बनाने में किया जाता है| कालेचने taste के साथ health के लिए भी अच्छे होते है|

इन चनो में dietary fiber, विटामिन और minerals होते है,इसमें fat बहुत कम मात्रा में होती है इसलिए ये instant energy के लिए अच्छा source है| 100gm काले चनो में 164 कैलोरी होती है और total fat मात्र 6.04gm होती है,जबकि carbohydrate 27.42 gm और dietary fiber 7.6gm होता है| इस कारण 2 से 3 चम्मच भी इन चनो को लेना कई तरह की फलों और सब्जियों को खाने के जितना ही गुणकारी होता है| काले चनो में anthocyanin, delphindin, cyanidin और petunidin जैसे एंटीऑक्सीडेंट और कुछ phytonutrients भी होते है|

काले चनो में solubleऔर insoluble दोनों तरह के फाइबर होते है,जो की weight loss करने में बहुत help करते है,soluble fibers gallbladder से secrete होने वाली bile जो की fat का metabolism करती है,को excrete करने में help करते है,जबकि insoluble fiber अन्य digestive disorders और कब्ज की सम्भावनाओ को कम करते है, इन fibers के कारण पेट भरा रहता है,और भूख नहीं लगती,जिससे इनको खाने से पर्याप्त कैलोरी लेकर भी वजन कम किया जा सकता है|

काले चनो में मिलने वाले एंटीऑक्सीडेंट और phytonutrients के कारण blood vessels भी properly काम करती है,इन पर कोई तरह का oxidative stress नहीं पड़ता,जिससे हृदय सम्बन्धित बीमारिया नही होती| इनमे मिलने वाला folate धमनी में plaque formation को रोकता है,जिस कारण atherosclerosis नही होता,और blood clot, heart attack की सम्भावनाये भी कम हो जाती है| काले चने bile acid से bind होकर body में इनके absorption को रोकते है,जिससे cholesterol level भी कम होता है,यह विशेष रूप LDL(low density lipid) और triglyceride को कम करता है,जिससे atherosclerosis की सम्भावना बहुत कम हो जाती है|

  • काले चनो में iron बहुत मात्रा में मिलता है,इस कारण यह anemia की सम्भावना को भी कम करता है और energy देता है,और इसी कारण यह pregnant ladies के लिए महत्वपूर्ण आहार है क्युकी इसके कारण उनमे रक्त की कमी नही हो पाती,और इनमे मिलने वाला folate भी बच्चे के विकास में मदद करता है|
  • यह blood sugar को भी control करता है,इसका glycemic index भी कम होता है,जिस कारण carbohydrate धीमे-धीमे digest होता है,और इस कारण ही इसे खाने से भूख भी देरी से लगती है और blood में sugar का level भी नियन्त्रण में रहता है|
  • इसमें मिलने वाले saponin जो की एक तरह का phytonutrient है,breast cancer की सम्भावना को भी कम करते है,और osteoporosis से बचाते है,गर्म पानी के साथ चने खाने से miscarriage की सम्भावना भी कम होती है|
  • इनमे मिलने वाला soluble फाइबर colon cancer की सम्भावना को कम करता है|
  • पीलिया होने पर चने और गुड़ को पानी में एक साथ भिगोकर खिलाया जाता है जिससे उल्टी और बुखार कम हो जाते है,और immunity भी बढती है
  • Skin पर होने वाले सफेद दाग धब्बो को भी काले चनो से कम किया जा सकता है,इसके लिये इन्हें त्रिफला चूर्ण के साथ भिगोकर रखा जाता है,और 24 घंटे बाद sprout बनने पर इन्हें खाते है,regular ऐसा करने पर जल्द ही दाग धब्बे कम होने लगते है|

काले चनो का उपयोग बालों की देखभाल में भी किया जा सकता है,इससे dandruff कम होता है,यह बालों को सफेद या ग्रे होने से रोकता है,यह बालो को घना और मजबूत भी बनाते है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here