लालटेन और जितिया पर सियासत, जदयू ने तेजस्वी को बताया कलयुगी बेटा

0
210

तेजस्वी यादव (Tejasvi Yadav) आज बिहारवासियों से रात 9 बजे 9 मिनट तक लालटेन जलाने की अपील की है जो बेरोजगारी के खिआफ़ है। तेजस्वी ने चुनावी मौसम में सरकार की असफलता को दर्शाये जाने के लिए बिहारवासियों से विरोध करने की अपील की है। सियासत में तेजस्वी के इस ऐलान से खलबली होनी तय थी जिसपर जदयू के तीखे बयान देने वाले नेता ने तेजस्वी को कलयुगी पुत्र कहा है। इसके साथ ही जदयू नेता नीरज ने पुत्र धर्म की सीख भी दी है।
नीरज कुमार ने कहा है कि पितृधर्म से तो तेजस्वी यादव विमुख हैं ही अब मातृऋण से भी विमुख हो गए हैं। नीरज ने कहा है कि जितिया व्रत का आज नहाय खाय है और माता संतानों के लिए सुख समृद्धि और दीर्घायु होने की कामना करती है और गर्मी में निर्जला व्रत रखती है। शास्त्रों में जिक्र है कि मातृ देवो भवः। इस स्थिति में बिजली बंद कर माता को तेजस्वी लालटेन की तपिश में तपायेंगे।

यूँ तो बिहार की राजनीती में सत्तारूढ़ और विपक्ष पार्टी के बीच कड़ी बयानबाजी की दौर जारी रहती है लेकिन अब यह और भी तेज हो चुकी है। राजनितिक दृष्टिकोण से विपक्ष सरकार की खामियों को तथ्य और आंकड़ों के साथ निकलकर उसके द्वारा हमला बोल रहे हैं जो सरकार को उस मुद्दे पर ख़ामोशी देता हैं वहीँ जनता के सामने उन मुद्दों को बार-बार लाकर जनता से मौजूदा सरकार को हटाए जाने की अपील तेजस्वी कर रहे हैं.

बयानबजियों में ट्विटर काफी अहम है। राजद के ओर से लालू प्रसाद , राबड़ी देवी और तेजस्वी तकरीबन हर दिन कभी बेरोजगारी के मुद्दे पर सरकार पर हमला बोलते हैं तो कभी अपराध के मुद्दे पर सरकार पर फायर तीर छोड़ते हैं. सत्तारूढ़ पार्टी जदयू राजद के शासनकाल को जंगलराज कहती हैं वहीँ राजद अपना बचाव करते हुए जदयू के शासनकाल को राक्षसराज घोषित करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here