जदयू ने दी चिराग को खुली चुनौती, हिम्मत है तो सीतामढ़ी से लड़ लें चुनाव

0
323

जदयू और लोजपा के बीच धीमा-धीमा चल रहा वार खुलकर अब आर या पार के रूप में सामने आ गया है. जदयू के साथ ही साथ भाजपा ने भी लोजपा को अल्टीमेटम दे दिया है। वहीँ बिहार विधानसभा चुनाव 2015 में ऐसे 20 सीट रहे थे जिसपर जदयू और लोजपा के बीच मुकाबला रहा था और लोजपा को मुंह की खानी पड़ी थी.

एनडीए में लोजपा ने पहले 20 से 25 सीट की मांग की थी जिसे लेकर भाजपा राजी हो गया लेकिन अब 30 सीटों की मांग पर बात अटक गई है और उससे भी अधिक महत्वपूर्ण लोजपा चुने हुए सीटों पर दावेदारी कर रही है जिसे लेकर मामला उलझा हुआ है. हालाँकि लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने कार्यकर्ताओं के बीच 143 सीटों पर उम्मीदवार उतारने की भी बात कही। सियासी गलियारों में तो खबर यह भी है कि लोजपा विधानसभा चुनाव में 143 सीटों पर अपना उम्मीदवार उतार सकती है और वे खुद भी सीतामढ़ी या जमुई सीट से चुनावी अखाड़े में कूद सकते हैं.

सीतामढ़ी में चुनाव लड़ने को लेकर सीतामढ़ी से जदयू सांसद सुनील कुमार पिंटू ने खुली चुनौती चिराग को दे दी है. सुनील कुमार ने कहा है कि आप में हिम्मत कहाँ हैं ? पिंटू ने कहा है कि प्रधानमंत्री की दया से जीत कर आये हैं और अब अस्तित्व को बचाये जाने को लेकर दबाव की राजनीति कर रही है। पिंटू ने चैलेंज देते हुए कहा कि चिराग शून्य पर आउट हो जायेंगे। इसके साथ ही पिंटू ने कहा है कि पहले चिराग पासवान लोकसभा से इस्तीफा दे फिर विधानसभा चुनाव में उतरे।

पिंटू ने चिराग पर निशाना साधते हुए कहा है कि नीतीश कुमार 1985 में ही विधायक बनकर आये थे और चिराग ने अबतक विधानसभा का चुनाव भी नहीं लड़ा है। पिंटू ने कहा है कि चिराग अपने दिमाग से कम और किसी और के दिमाग से ज्यादा चल रहे हैं।


पिंटू ने खुली चुनौती देते हुए कहा है कि चिराग 143 सीटों पर उम्मीदवार उतारकर परिणाम प्राप्त करने के भ्रम में हैं। वे इसी चुनाव में चुनाव लड़कर देख लें। पिंटू ने साफ कह दिया कि अगर वे एनडीए से अलग होते हैं तो कोई फर्क एनडीए को नहीं पड़ता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here