Big Breaking : JDU नेता एवं मुंगेर लोकसभा के पूर्व प्रत्याशी की पत्नी ने कर ली आत्महत्या !

2014 में मुंगेर लोकसभा चुनाव राष्ट्रीय जनता दल के टिकट पर लड़ने वाले, फिर बाद में जदयू का दामन थामने वाले नेता प्रगति मेहता की पत्नी ने कल देर रात फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. घटना के कारणों का फिलहाल खुलासा नहीं हो सका है.

जदयू नेता प्रगति मेहता की शादी चार साल पहले समस्तीपुर के मौहिदीनगर के अरुण मेहता की पुत्री खुशबू के साथ हुई थी. खुशबू से प्रगति मेहता को एक डेढ़ वर्षीय पुत्री भी है.

वर्तमान में जदयू प्रवक्ता प्रगति मेहता ने पुलिस को बताया कि बीती रात खाना खाने के बाद पूरा परिवार छत पर सोने चला गया जबकि वो, उनकी पत्नी खुशबू और बेटी देवांशी कमरे में हीं सो रहे थें.

सुबह सुबह नींद खुली तो उन्होंने पत्नी को बिस्तर पर नहीं पाया तो खोजने के लिए दूसरे कमरे में गए तो देखा कि वहां पंखे से उसकी लाश झूल रही है. मेहता ने कहा कि रात में सब कुछ सामान्य था. हंसी खुशी के माहौल में सबने साथ खाना खाया फिर पता नहीं अचानक से यह क्या हो गया !

प्रगति मेहता का पूरा परिवार जमुई जिले के गिद्धौर थाना इलाके के मुख्य बाजार स्थित खानदानी मकान में रहता है. घटना के बाद स्थानीय पुलिस वहां पहुंच गई है और परिजनों से जानकारी ले रही है. चूंकि प्रगति की गिनती इलाके के गणमान्य लोगों में होती है, इस वजह से काफी ज्यादा भीड़भाड़ उनके घर के आसपास हो गई है.

प्रगति मेहता कौन हैं ?
प्रगति मेहता बिहार की राजनीति में कोई बड़ा नाम नहीं हैं. हिंदी दैनिक अखबार से पत्रकारिता से अपने कॅरियर की शुरुआत करनेवाले प्रगति मेहता पत्रकारिता छोड़ने के बाद राष्ट्रीय जनता दल से जुड़ गये. 2014 के लोकसभा चुनाव में एकाएक उनका नाम चर्चा में आया जब उन्हें मुंगेर सीट से राष्ट्रीय जनता दल ने उम्मीदवार घोषित किया.

इस चुनाव में प्रगति कामयाब नहीं हो सकें थें. लोजपा प्रत्याशी वीणा सिंह ने त्रिकोणिय मुकाबले में उन्हें परास्त किया. उन्हें यहां तीसरा स्थान मिला था. नीतीश कुमार के करीबी ललन सिंह दूसरे नंबर पर थें. इसके बाद महागठबंधन सरकार के विघटन हुआ तो प्रगति ने जदयू का दामन थाम लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here