पार्टी के विस्तार और मजबूती के लिए जदयु ने अपनाई ये रणनीति

0
249

बिहार(Bihar) में नीतीश सरकार के वापस सत्ता में आने के सबसे महत्वपूर्ण कारक में से महिला वोटरों की भूमिका काफी अहम मानी जाती है। बिहार में महिलाओं को आज की तारीख में आगे बढ़ाने का सबसे अधिक श्रेय मौजूदा सीएम नीतीश कुमार(Nitish Kumar) को जाता है। महिला विकास के लिए सरकार ने कई कारगर कदम उठाए हैं। शराब बंदी इनमें से काफी अहम है क्यूंकी खुलेआम इस पर पाबंदी लगी और फिर महिला हिंसा में काफी गिरावट दर्ज की गई।

पार्टी के विस्तार के लिए और अधिक मजबूती के लिए पार्टी ने अब जिला और प्रखण्ड मुख्यालयों में महिला जदयु कार्यालय खोले जाने की रणनीति पर विचार कर रही है। इस कदम से जदयु महिला को राजनीति में मजबूती से लाने और महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए प्रेरित कर रही है। यह पार्टी को विस्तार के साथ आधी आबादी की मजबूती देती है। जो इसके वोट बैंक को सुदृढ़ता प्रदान करेगी। भाजपा को पूरे देश में एक विशेष पहचान प्राप्त है। जदयु को पीछे धकेल कर पार्टी ने बिहार में अपना परचम लहराया।

बिहार में पार्टी को कम सीटें हासिल हुई। जिस पार्टी का सुप्रीमो राज्य का सीएम हो और उस पार्टी को वोट प्राप्त किए जाने में तीसरा स्थान हासिल हो, यह विचारणीय है। नीतीश कुमार अबकी बार विकास की सीढ़ियों को मजबूत किए जाने के साथ ही साथ उन खामियों पर भी विशेष ध्यान देने के कोशिश में लगे हैं जो पार्टी पर जनता के विश्वास को कम कर सकती है।

महिला जेडीयू अध्यक्ष डॉ श्वेता विश्वास ने कहा कि महिलाओं को जागरूक करने और सरकार के विकास कार्यक्रमों की जानकारी गाँव गाँव तक पहुंचाए जाने के लिए जिला और प्रखण्ड स्तर पर महिला जेडीयू कार्यालय खोले जाने का निर्णय लिया गया है। श्वेता विश्वास ने कहा कि सीएम के नेतृत्व में पार्टी पहले भी समाज सुधार को लेकर कई तरह के काम कर रही है अब उन कार्यों को गति प्रदान की जाएगी। उन्होने कहा कि विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से समाज में जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here