कोरोना काल में विधानसभा चुनाव कराने के पक्ष में नहीं है जीतन राम मांझी

0
257

बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति तेज हो गई है. प्रदेश इस समय बाढ़ और कोरोना के कहर को झेल रहा है. बाढ़ और कोरोना कहर को लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर है. ऐसे में सरकार और विपक्ष दोनों हमलावर है. इधऱ हम प्रमुख् जीतन राम मांझी ने कोरोना काल में चुनाव टालने की बात कही है. हालांकि वे चुनाव की तैयारियों को लेकर वर्चुअल रैली कर चुके हैं.

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग अगर बिहार में चुनाव करता चाहता है तो वह लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव कराए. ईवीएम का प्रयोग होना चाहिए. कोई ऐसी पद्धति या प्रयोग नहीं होनी चाहिए जिससे कि आम जनता वाकिफ नहीं हो. वैसे अगर लेट से चुनाव कराया जाए तो व्यवहारिक होगा. नई ऑनलाइन पढ़ाई से गरीब के बच्चे वंचित हो रहे हैं. इसका दूरगामी परिणाम होगा. सरकार बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन के बदले पहले जैसा चालू करें.

जीतन राम मांझी ने अपने कार्यकर्ताओ को कहा है कि यदि चुनाव होते हैं तो चुनाव प्रक्रिया में संभावति धांधली की और वे हमेशा सचेत रहे. सचेत होकर ज्यादा से ज्यादा मतदान कराएं. आपको बता दें कि बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कोरोना काल का हवाला देते हुए चुनाव इस साल नहीं कराने का सलाह दिया है. वैसे जदयू और बीजेपी दोनों ही राजनीतिक पार्टीयां चुनाव कराने के मुड में हैं और ये दोनों ही राजनीतिक पार्टियां यह कह रही है कि अब फैसला चुनाव आयोग को करना है. और चुनाव आयोग चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here