जीतन राम मांझी के NDA में हो सकते हैं शामिल, जानिए प्रदेश के नेताओं ने क्या कुछ कहा

0
257

बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति तेज हो गई है. आज पूरे दिन बिहार की राजनीति में रानजेताओं को लेकर उठापटक का दौर जारी रहा. सुबह से ही श्याम रजक के पार्टी छोड़ने की बात चलती चलती रही उसके बाद राजद ने अपने तीन विधायकों को 6 साल के लिए पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया. बिहार की राजनीति वर्तमान समय में गरमाई हुई है. ऐसे में अब जीतन राम मांझी को लेकर सियासत तेज हो गई है. बताया जा रहा है कि मांझी एनडीए में शामिल हो सकते हैं. ऐसे में एक बार फिर से राजनीतिक तेज हो गई है.

जीतन राम मांझी के महागठबंधन को छोड़कर एनडीए में शामिल होने की खबरों को लेकर एनडीए और महागठबंधन दोनों ही तरफ अलग अलग राग सामने आए हैं. वजीरगंज से कांग्रेस के विधायक अवधेश कुमार सिंह ने कहा है कि जीतन राम मांझी पुराने कांग्रेस हैं वे 1980 में पहली बार कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़े थे. उनकी सोच गरीबों और बंचितों केहक के लिए आवाज उठाने वाले सेक्यूलर नेता की रही है ऐसे में अगर वे भाजपा और जदयू के साथ एनडीए में जाते हैं तो उनकी छवि को काफी आघात पहुंचे गा.

वहीं जीतन राम मांझी के एनडीए में शामिल होने की खबरों को लेकर बीजेपी और जदयू ने स्वागत किया है. बीजेपी नेता प्रेम कुमार ने कहा है कि जब जब चुनाव का समय आता है तो कई नेता और कार्यकर्ता एक दल से दूसरे दल में आते-जाते रहते हैं. अगर पूर्व सीएम जीतन राम मांझी महागठबंधन छोड़कर एनडीए में आते हैं तो बीजेपी उनका स्वागत करेगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी काफी अनुभवी नेता है. 2015 में विधानसभा चुनाव उ्नहोंने साथ में लड़ा था. उन्होंने इमामगंज सीट से चुनाव जीता था उन्होंने यह भी कहा कि महागठबंधन में उन्हें उचित सम्मान नहीं मिला है इसीलिए वह फिर से एनडीए में आने की तैयारी में हैं.

इधर एनडीए में भी सब कुछ ठीक नहीं है लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान लगातार जदयू से नाराज चल रहे हैं तो वहीं आज ही मीडिया में पूरे दिन भर यह खबर चलती रही कि श्याम रजक कल यानी की सोमवार को पार्टी छोड़कर राजद का दामन थाम लेंगे. इस समय बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति पूरी तरह से तेज हो गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here