सिंधिया के खिलाफ 2018 में बंद हुआ के-स फिर खुला, जानिए पूरा मामला

0
524

ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ की गई शि-कायतों के तथ्यों का सत्यापन फिर से किया जायेगा। मध्यप्रदेश पुलिस की आर्थिक अ-पराध शाखा ने उनके खि-लाफ किये गए शि-कायतों का सत्यापन करने का निर्णय लिया है.

ईओडब्लयू के एक अधिकारी ने जानकारी दी है कि सुरेंद्र श्रीवास्तव के शिकायतों के तथ्यों को फिर से सत्यापित किये जाने का आदेश दिया गया है.

ईओडब्लयू के प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि सुरेंद्र श्रीवास्तव ने सिंधिया और उनके परिवार के खिलाफ में शि-कायत दर्ज किया था. उन्होंने एक रजिस्ट्री दस्तावेज में फेरबदल कर वर्ष 2009 में ग्वालियर के महलगांव में 6,000 फुट जमीन उसे बेची. इस मामले को वर्ष 26 मार्च 2014 में दर्ज किया गया था. आज फिर 12 मार्च, 2020 को इस मामले में फिर से आवेदन दिया गया है.

सिंधिया समर्थक ने इस मामले को बदले की भावना से की गई कार्रवाई बताया है. उन्होंने कहा है कि इससे कुछ होने वाल नहीं है. इस समबन्ध में एक बार सबूतों के आभाव में खात्मा लग चुका है। उन्होंने कहा है कि हमें संविधान और कानून पर भरोसा है. हमें न्याय मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here