कौन बनेगा विधायक: RJD की बढ़ सकती है मुश्किल, तेजस्वी को अकेले करना होगा हैंडल !

अररिया जिले की जोकीहाट विधानसभा उपचुनाव की तारीखों की घोषणा हो गई है. यह सीट जेडीयू की सीटिंग सीट थी. यहां से मरहूम सांसद तस्लीमुद्दीन के पुत्र सरफराज आलम विधायक हुआ करते थें. उनके आरजेडी में जाने के बाद यह सीट खाली हो गई है, इसलिए यहां चुनाव हो रहे हैं.

माना जा रहा है कि इस सीट से तस्लीमुद्दीन के परिवार का हीं कोई सदस्य आरजेडी के टिकट पर मैदान में उतरेगा. उनके परिवार के कई सदस्य यहां से चुनाव लड़ने की इच्छा पाले हुए हैं. ऐसी स्थिति में उनके परिवार में अंदरुनी घमासान से इंकार नहीं किया जा सकता. यह राष्ट्रीय जनता दल और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के लिए परेशान करने वाली खबर है.

तस्लीमुद्दीन के सबसे छोटे बेटे शाहनवाज आलम ने खुद को राजद के टिकट का दावेदार बताया है तो सांसद सरफराज आलम के बेटे मोहम्मद आमिर खुद को सोशल मीडिया पर भावी विधानसभा प्रत्याशी के तौर पर प्रोजेक्ट कर रहे हैं. हालांकि तस्लीमुद्दीन के परिवार की ओर से अभी इस मुद्दे पर कोई खुल कर बोल नहीं रहा है लेकिन क्षेत्र में चाचा और भतीजे के बीच टिकट की जंग की चर्चा जोरों पर है.

मालूम हो कि जोकीहाट विधानसभा उपचुनाव के लिए 28 मई को मतदान और 31 मई को काउटिंग है. जदयू से सरफराज आलम जोकीहाट से विधायक थे. राजद के टिकट पर अररिया लोकसभा सीट जीतने के बाद ये सीट खाली हो गई है. जोकीहाट विधानसभा में कुल 2,70,415 मतदाता है. इनमें से 1,44,176 पुरुष और 1,26,225 महिला मतदाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here