नीतीश के करीबी नेता ने केंद्र सरकार को बताया दलित विरोधी

प्रधानमंत्री के बिहार दौरे से एक दिन पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी माने जाने वाले जदयू के वरिष्ठ नेता और बिहार विधानसभा के पूर्व स्पीकर उदय नारायण चौधरी ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

चौधरी के मुताबिक मोदी सरकार धीरे धीरे आरक्षण खत्म करने की साज़िश रच रही है। बिहार के औरंगाबाद जिले में मीडिया से बात करते हुए पूर्व विस अध्यक्ष ने कहा मैं दलगत भाव से नहीं बल्कि वंचित वर्ग मोर्चा के संयोजक के नाते यह सवाल उठाया है। बाबा भीमराव अंबेदकर ने भारतीय संविधान में आरक्षण का जो अधिकार दिया है वह तो अबतक लागू नहीं हुआ है, लेकिन आज आरक्षण की समीक्षा करने और समाप्त करने की साजिश हो रही है। कहा जाए तो आरक्षण समाप्त किया जा रहा है। 

पूर्व विस अध्यक्ष ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के आधार पर प्रोन्नति में आरक्षण समाप्त कर दिया गया है। इस फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार अथवा संसद का नेतृत्व कर रहे लोगों ने कोई बिल अभी तक नहीं लाया है। संसद के नेतृत्वकर्ता में इच्छाशक्ति में कमी और नीयत व नीति में खोट के कारण आरक्षण समाप्त की जा रही है। इसके खिलाफ वंचित वर्ग मोर्चा पूरे देश में अभियान चलाएगी। राज्य के हर जिलों में बैठकें की जाएगी। 

चौधरी ने कहा कि अधिकांश विभागों में आउटसोर्सिंग कर दिया गया है। इसमें आरक्षण समाप्त कर दिया गया है। शिक्षा में छात्रवृति समाप्त कर ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। आरक्षण वर्ग के लोगों को मिलने वाली बजट की राशि सड़क, सचिवालय निर्माण के अलावा अन्य मद में खर्च की जा रही है।

जदयू नेता ने कहा कि न्यायपालिका में आरक्षण नहीं मिलता है। अब तक केंद्र सरकार न्यायिक आयोग का गठन नहीं किया है। आरक्षण पर सांसद चिराग पासवान के दिए गए बयान पर कहा कि उन्हें सामान्य सीट से लडऩा चाहिए। रामविलास पासवान को आरक्षण का लाभ मिल रहा है। चिराग पासवान जो भी बोले हैं वह गलत है। पूर्व विस अध्यक्ष ने केंद्र के साथ राज्य सरकारों पर भी सवाल खड़ा किए।

विदित हो कि उदय नारायण चौधरी पिछली बिहार विधानसभा के स्पीकर थें और इस बार के चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के हाथों पराजित हो गए थें। उनके इस बयान के कई मतलब निकाले जा रहे हैं। चौधरी का हालिया बयान जदयू के लिए मुसीबत खड़ी करने वाला साबित हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here