सुशांत सिंह राजपूत मामले में केंद्र से CBI जांच की मंजूरी मिलने के बाद जानिए बिहार के नेताओं ने क्या कहा ?

0
224

सुशांत सिंह राजपूत मामले में बिहार सरकार द्वारा सीबीआई जांच की सिफारिश करने के बाद केंद्र सरकार ने सीबीआई को जांच की मंजूरी दे दी है. इसके बाद से बिहार के लोग और उनके फैंस काफी खुश हैं. इस पूरे मामले को लेकर बिहार में राजनीतिक पार्टियों की तरफ से भी बयान आने शुरू हो गए हैं. केंद्र के इस फैसले के बाद से कई राजनेताओं ने इसका स्वागत किया है.

लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान लगातार इस पूरे मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते रहते थे. उन्होंने फोन कर मुख्मंत्री नीतीश कुमार से बात भी किए थे. अब जब केंद्र सरकार ने सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं तो चिराग पासवान ने इसका स्वागत किया है. उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस निर्णय से जांच में तेजी आएगी और सुशांत के परिवारजनों तथा उनके प्रसंशकों को न्याय मिलेगा. उन्होंने कहा कि मुम्बई पुलिस की जांच पूरी तरह से संदेह के घेरे में थी. जिस तरह मुम्बई पुलिस ने बिहार के आईपीएस ऑफिसर विनय तिवारी को क्वारंटाइन किया, वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है.

हम प्रमुख् जीतन राम मांझी ने ट्वीट कर सुशांत की मौत की जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा को लेकर सीएम नीतीश कुमार की सराहना की है. उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री ने सीबीआई जांच की सिफारिश करके ऐतिहासिक निर्णय लिया है. यह देरी से उठाया गया उचित कदम है. मुंबई पुलिस द्वारा बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को क्वारंटाइन करना कहीं न कहीं दाल में काला लगता है.

राजद के उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत से पूरा बिहार सदमे में हैं. उ्होंने कहा कि हमें ऐसी परिस्थिति नहीं आने देना चाहिए जिससे दो राज्यों के बीच में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो जाए. उन्होंने कहा कि इसका खामियाजा महाराष्ट्र में काम करने वाले बिहारी लोगों भुगते गें. उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि शिवसेना के स्टैंड में अब थोड़ा बदलाव आया है कि लेकिन महाराष्ट्र के बाहर के लोगों के प्रति उनकी क्या मानसिकता रही है, किसी से छुपा नहीं है. अब उन्हें पता चला कि बिहार के लोगों के बिना उनका काम नहीं चलेगा तो थोड़ी नरमी आई है. हमारे यहां भी ऐसी स्थिति नहीं है कि वहां से सभी लोगों को बुलाकर काम दे दें.

इस पूरे मालले को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री और बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव ने सुशांत मामले में बोलते हुए कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद समाज में एक स्फूर्त बहस शुरू हुई है. नेपोटिज्म की बुराइयों से लेकर कई और सवाल समाज के बीच से उठ रहे हैं. सुशांत के परिवार को न्याय दिलाने में सब साथ हैं.

इधऱ कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या प्रकरण में राज्य सरकार द्वारा की गई सीबीआई जांच की सिफारिश का स्वागत है. उन्होंने कहा है कि सुशांत एक प्रतिभाशाली युवा थे और उनकी मौत का सच सामने आना ही चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here