नई शिक्षा नीति के तहत जानिए TET में क्या होगा बदलाव

0
319

देश में नई शिक्षा नीति में एक बार फिर से बदलाव किया गया है. इस बार शिक्षकों की गुणवत्ता को लेकर भी कई प्रावधान किया गया है. नई स्कूली शिक्षा व्यवस्था में शिक्षक पात्रता परिक्षा में बदलाव किया गया है. आपको बता दें कि पहले यह परीक्षा दो हिस्सों में आयोजित किया जाता था लेकिन अब इसमें बदलाव किया गया है. लेकिन अब स्कूली शिक्षा को चार हिस्सों में बांट दिया गया है. जिसमें फाउंडेशन, प्रीपेरेटरी, मिडल और सेकेंडरी. अब शिक्षक पात्रता परीक्षा में इसी आधार पर प्रश्न तैयार किया जाएगा.

अंग्रेजी समाचार पत्र में छपी खबर के अनुसार जो उम्मीदवार टीईटी पास करेंगे उन्हें एक डेमोस्ट्रेशन या इंटरव्यू देकर स्थानीय भाषा में अपना ज्ञान दिखाना होगा. इस नई शिक्षा पद्धति में इंटरव्यू के माध्यम से .यह देखा जाएगा कि शिक्षक क्षेत्रिय भाषा में बच्चों को आसानी से पढ़ा पा रहे हैं कि नहीं. यह नियम प्राइवेट स्कूल और सरकारी स्कूल दोनों पर लागू होगा.

नई शिक्षा नीति के तहत अब बीएड कि डिग्री चार साल की हो जाएगी. और 2030 से न्यूनतम क्वालिफिकेशन भी यही होगी. बताया जा रहा है कि नई शिक्षा नीति के अनुसार साल 2022 तक एनसीटीई शिक्षकों के लिए एक साक्षा राष्ट्रीय पेशेवर मानक तैयारी करेगी. इसके लिए NCIRT, SCERT और शिक्षा से जुड़े विशेषज्ञों से इस संगठनों के साथ मिलकर परामर्श लिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here