लैब टेक्निशियंस ने दिया अल्टिमेटम, मांगे नहीं मानी तो जाएंगे हड़ताल पर

0
243

बिहार में लैब टेक्निशियन अब हड़ताल पर जाने की तैयारी में है. बीएसएससी के रवैये से नाराज राज्यभर के लैब टेक्निशियंस ने कोरोनकाल में हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है. राज्य के 678 लैब टेक्निशियंस जो कि संविदा पर 10 वर्षों से अस्पतालों में कार्यरत हैं. इनका आरोप है कि बीएसएससी के द्वारा लिए गए काउंसिलिंग के 5 साल बाद भी अबतक सेवा स्थायी नहीं हो सकी है.

बताया जा रहा है कि सेवा स्थायी को लेकर आयोग ने वर्ष 2015 में ही 1772 पदों के लिए विज्ञापन निकाला था. जिसकी काउंसिलिंग वर्ष 2016 में हुई थी. लेकिन 5 साल के बाद इसका रिजल्ट 2020 में जारी किया गया है. रिजल्ट जारी होने के करीब 3 महीने बीत गए है लेकिन अभी तक साक्षात्कार का दिनांक जारी नहीं किया गया है. इसको लेकर प्रदेश अध्यक्ष सुरजीत कुमार ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर 31 जुलाई तक साक्षात्कार नहीं लिया जाता और मेधा सूची जारी नहीं होती है तो 1 अगस्त से राज्य भर के लैब टेक्निशियंस हड़ताल पर चले जायेंगे.

लैब टेक्निशियंस ने आरोप लगाते हुए कहा है कि आयोग जानबूझकर मेघा सूची नहीं निकाल रही है. आपको बता दें किइन्ही लैब टेक्निशिंयस के सहारे कोरोना सैम्पल की जांच की जा रही है. उन्होंने यह भी कहा है कि अब तक 30 से ज्यादा कर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. कोरोना से दो लोगों की जान भी जा चुकी है. इधऱ उमेश कुमार और तनुजा कुमारी ने कहा कि जोखिम भरा काम सरकार लगातार ले रही है, लेकिन न तो जॉब सिक्यूरिटी है और न ही बीमा. ऐसे में जबतक सेवा स्थायी नहीं होती बिहार में लैब टेक्निशियंस 1 अगस्त से हड़ताल पर रहेंगें. अगर लैब टेक्निशिंयस हड़ताल पर चले जाते हैं तो प्रदेश में कोरोना की जांच भगवान भरोसे हो जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here