लालू यादव का वो भाषण जिसके बाद राजनीतिक गलियारों में छा गया था सन्नाटा और जनता हँसते-हँसते लोटपोट!

0
546

लालू यादव का मिज़ाज बड़ा ही रंगीला है यह सब जानते हैं और जो इस बात को नहीं जानते है वो उनके भाषणों से यह अंदाजा लगा सकते हैं. तो आज हम कंटेंट लाइब्रेरी से ढूंढ लाये है लालू यादव का वाराणसी के पिंडरा और रामनगर वाला भाषण जिसके बाद सत्ता के गलियारों में तूफ़ान से पहले का सन्नाटा और लोगों के चेहरों पर लोटपोट कर देने वाली हंसी थी.

मौसम था उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव का और मंच पर माइक को थामे खड़े थे लालू प्रसाद यादव। अब चुनावी मौसम, शहर वाराणसी (जो प्रधानमंत्री का संसदीय छेत्र है), और माइक पर लालू तो क्या कहने. लालू यादव ने शुरुआत करते हुए कहा की “इ पीएम मोदी का कोई ठिकाना ना है की कब का बोल देंगे. इसके बाद लालू ने बिहारी अंदाज़ में कहा की इ मोदी पहले कहता था की बिहारियों के डीएनए में खराबी है और अब बोलता है की वाराणसी ने मुझे गोद लिया है, तो यूपी के लोग नि:संतानी है का रे, अउर ई बुढ़वा को भला कौन गोद लेगा। अइसन आदमी के फेरा में मत रहिएगा आपलोग।”

इसके बाद भी लालू नहीं रुके और कहा की वाराणसी को क्यूटो बना देंगे कहा था तो कहाँ किया और क्या किया जरा बताये। इसके बाद लालू यादव ने अमित शाह के उस बयान पर हमला बोलै जब पटना के एक होटल में अमित शाह लिफ्ट में फंस गए थे और कहा था की लालू-नीतीश मुझे मरवाना चाहते हैं.

लालू यादव ने अमित शाह के मरवाने वाले बयान पे कहा की लिफ्ट होता है आदमी सब के लिए न की कउनो गेंडे के लिए. बस लालू का इतना कहना था और सब जगह ठहाके लगने लगे और लोगों ने भी खूब मज़े लिए.

तो दोस्तों यह थी लालू यादव की एक और कहानी, तो अगर बिहारी न्यूज़ का ये स्टोरी आपको पसंद आया तो इसे ज्यादा से ज्यादा लाइक, कमेंट और अपने दोस्तों के बीच शेयर करके अपना प्यार दे, धन्यवाद.

  • 328
  •  
  •  
  •  
  •  
    328
    Shares
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here