किस्से अनकहे- वाराणसी में लालू का वो भाषण जिसमे उन्होंने अखिलेश को समधी और डिंपल को कह दिया था समधिन!

0
715

वाराणसी के रेवड़ी तालाब के पास भीड़ जुटी हुई थी, अब भीड़ जुटने का मतलब है की जरूर कोई नेता या सुपरस्टार या कोई कॉमेडियन आया होगा। तो भैया भीड़ जो जुटी हुई थी वो इसलिए थी की एक ऐसा नेता वहां पहुंचा था जो जनता को अपने रंगीले और चुटीले भाषण के द्वारा हंसा देता था.

लालू प्रसाद यादव वाराणसी में एक सभा को सम्बोधित करने पहुंचे थे, और पहुँचते ही सबसे पहले कहा की हिन्दू भाइयो को राम राम और मुसलमानो को सलाम! इतना कहने पर ही तालिया गरगरा उठी. फिर लालू यादव जनता से मुखातिब हुए और कह दिया की “आपकी जो डिंपल भाभी है वो हमरी समधिन है और जिनको आपलोग अखिलेश भैया कहते है वो हुए हमरे समधी।” बस इतना कहना था की लोग हंसने के साथ साथ तालियां भी बजाने लगे.

आपको बता दे की लालू प्रसाद यादव यहां उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए कांग्रेस सपा गठबंधन के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे थे, और काफी मात्रा में लोग उन्हें सुनने के लिए वहाँ पहुंचे थे. अखिलेश और डिंपल को सम्बन्धी बनाने के बाद लालू यादव ने सभी लोगों की और मुखातिब होते हुए कहा की “हम हुए आपके पडोसी और यहां जो भी लोग पहुंचे है वो भी हमारे समधी हुए और जो घरों में बैठी हुई है वो सब हुई हमरी समधिन।”

इसके बाद लालू यादव ने नरेंद्र मोदी के ऊपर ज़ोरदार हमला बोला था और मोदी और डोनाल्ड ट्रम्प को जुड़वाँ भाई बताते हुए कहा था की दोनों अपने देश को कहाँ ले जाएंगे कोई नहीं जानता. हालांकि उत्तर प्रदेश विधानसभा में कांग्रेस-सपा गठबंधन पूरी तरह से फ्लॉप रही थी लेकिन लालू यादव का वाराणसी वाला शो अपने हिसाब से हिट था.

तो भैया ई था लालू यादव का एगो किस्सा जो हमको लगता है की आप सब को भी अच्छा लगा होगा, तो अगर अच्छा लगा होगा तो अपना दोस्त लोगों के बीच हमरे बिहारी न्यूज़ को शेयर कर दीजिये ताकि उ सब भी बिहार और पटना से जुड़ा हुआ हर तरह का न्यूज़, अपडेट, वीडियो, स्टोरी और किस्सा कहानी के बारे में जान सके, धन्यवाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here