बिहार में जमीन सर्वे का कार्य हुआ शुरू, अब खतियान बनेगा इनके नाम से

0
4742

बिहार के ज्यादातर जिलों में जमीन के सर्वे का कार्य शुरू हो गया है. इसमें अब जीवित रैयत जमीन यानी कि इस जमीन के वर्तमान मालिक के नाम से खतियान बनेगा. इसके लिए बिहार सरकार ने सर्वे कराना शुरू कर दिया है. आपको बता दें कि इससे पहले 1950 में सर्वे का कार्य किया गया था. नए खतियान बन जाने के बाद से लोगों को जमीन विवाद से छूटकारा मिल जाएगा.

इधर बिहार सरकार ने जमीन के सर्वे के कार्यों के लिए अफसरों के टीमों का गठन कर दिया है. बताया गया है कि इसके लिए छः टीमों का गठन किया गया है. ये टीमें मुख्यालय से रवाना हो गई हैं. इधर सभी जिलों में अमीन, सहायक बंदोबस्त पदादिकारियों, कानूनगो, लिपिकों को इस कार्य के लिए पदास्थापित कर दिया गया है. इसके साथ ही पूरे सर्वे के लिए नोडल अधिकारी की भी नियुक्ति की गई है जो सर्वे का निरिक्षण करेंगे.

प्रदेश के इन जिलों में वर्तमान में सर्वे का कार्य जारी है- नालंदा, जहानाबाद, मुंगेर, लखीसराय, सुपौल, अररिया, अरवल, कटिहार, किशनगंज, खगड़िया, जमुई, शिवहर, सहरसा, सीतामढ़ी, चंपारण, पूर्णिया, बांका, शेखपुरा, बेगूसराय और मधेपुरा है जिसमे से शिवहर के तीन अंचल डुमरी, कटसरी, पिपराही, पूरनहिया में भूमि सर्वेक्षण का कार्य शुरू कर दिया गया है. आपको बता दें कि इस कार्य के लिए इन जिलों में प्रखंड स्तर पर शिविर भी लगाया गया था. वर्तमान में भूमि को लेकर जो कार्य किए जा रहे हैं वह बिहार विशेश, सर्वेक्षण बंदोबस्त नियमावली 2012 के तहत सर्वे किया जा रहा है.

यह भी पढ़ेंः- JDU ने फूंका चुनावी बिगुल, CM नीतीश कुमार ने विपक्ष पर बोला हमला, कहा- कुछ लोग आलोचना करते रहते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here