पैसे गिनने आते नहीं और दुल्हे राजा चले शादी करने, लड़की ने बारात वापस की

0
709

मधुबनी जिले के पंडौल गाँव में एक दुल्हन ने दुल्हे के अशिक्षित होने पर शादी करने से इनकार कर दिया. दुल्हन ने यह फैसला वरमाला होने के बाद लिया. लड़की के इस साहसिक फैसले का पूरे गाँव वालों ने स्वागत किया. वहीं शादी में मौजूद एक व्यक्ति ने लड़की के अदम्य साहस की तारीफ़ करते हुए उसके साथ अपने पढ़े-लिखे बेटे से शादी का प्रस्ताव रखा. लड़की के घरवालों ने लड़की से पूछने के बाद शादी के लिए हाँ कर दी.

दरअसल यह कहानी भले ही बड़ी फ़िल्मी लगे लेकिन यह बिलकुल सच्ची कहानी है. यह पूरा मामला 13 मार्च का है. पंडौल प्रखंड के लड़के की शादी रहिका प्रखंड के मोमिनपुर गाँव की लड़की के साथ तय हुई थी. शादी के दिन सबकुछ तय कार्यक्रम के अनुसार ही चल रहा था. बारात लड़की के घर पहुंची. इसके बाद वरमाला का कार्यक्रम हुआ. फिर मंडप पर रस्म के दौरान दुल्हन की सहेलियां दुल्हे से बात करने लगी. बात करने के दौरान सहेलियों को दुल्हे के अशिक्षित होने का शक हुआ. सहेलियों ने दुल्हे से कई सवाल किये लेकिन दूल्हा एक भी सवाल का जवाब नहीं दे पाया.

इसके बाद दुल्हन की सहेलियों ने दुल्हे को सौ-सौ के दस नोट गिनने को दिए लेकिन वह तीन कोशिशों के बावजूद भी नहीं गिन पाया. इसके बाद उससे उसका नाम और जिले का नाम पूछा गया जिसके जवाब में उसने पंडौल कहा. इन सारे सवाल जवाबो से यह बात पता चली की लड़का पढ़ा लिखा नहीं है. इसके बाद लड़की ने हिम्मत जुटाई और शादी करने से मना कर दिया.

दुल्हन के इस फैसले से सभी लोग काफी प्रभावित हुए. बारात में मौजूद एक व्यक्ति ने लड़की की तारीफ़ की और अपने बेटे से शादी का प्रस्ताव रखा. लड़की वालों ने हामी भर दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here