अब लॉकडाउन में क्या करेंगी पुष्पम प्रिया चौधरी

बिहार में आसन्न विधानसभा चुनाव के लिए यूं तो मुख्य मुकाबला एनडीए और यूपीए के बीच देखा जा रहा है लेकिन इसी दौर में एक नई पार्टी और उसकी मुखिया विकसित बिहार की परिकल्पना के साथ लोगों के बीच काम कर रही है, वो भी बिना किसी तामझाम और मीडिया मैनेजमेंट के साथ. सही समझ रहे हैं आप, हम बात कर रहे हैं प्लुरल्स पार्टी की अध्यक्ष और सीएम पद की उम्मीदवार पुष्पम प्रिया चौधरी के बारे में. लॉकडाउन की वजह से पुष्पम प्रिया चौधरी ने अपने बिहार यात्रा को बीच में ही रोक दिया है और बताया है कि आगे वो क्या करने जा रहीं हैं.

ਤਸਵੀਰ ਵਿੱਚ ਇਹ ਹੋ ਸਕਦਾ ਹੈ: ਇੱਕ ਜਾਂ ਵੱਧ ਲੋਕ, ਖੜੇ ਹੋਏ ਲੋਕ, ਬੱਦਲ, ਆਸਮਾਨ, ਪੇੜ, ਜੁੱਤੇ, ਆਉਟਡੋਰ ਅਤੇ ਕੁਦਰਤ

बूथ स्तरीय संगठन निमार्ण

प्लुरल्स की अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी ने अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए यह बताया है कि लॉकडाउन के कारण वह फिलहाल अपने बिहार यात्रा को विराम दे रहीं हैं . अब अगले 15 दिनों में वो लोकल कार्यकर्ताओं के साथ बूथ स्तरीय संगठन निमार्ण और प्रचार प्रसार पर काम करने जा रही हैं. इसके साथ ही उन्होंने अपनी आवाज बुलंद करते हुए कहा कि उधर बूथ स्तरी संगठन बनता रहेगा और इधर हम बिहार के बंधनों को खोलते रहेंगे और मिथकों को खोलते रहेंगे वो भी दूसरे किस्म के औजारों से.

बड़ी संख्या में जुड़ रहे युवा

पुष्पम प्रिया चौधरी के साथ युवा वर्ग अच्छी खासी संख्या में जुड़ रहा है. बिहार की जातीय राजनीति को चुनौती देने मैदान में उतरी पुष्पम प्रिया चौधरी के विजन को देखकर नई राजनीति के सपने के साथ ढेरों युवा प्लुरल्स के समर्थन में देखें जा रहे हैं. पुष्पम प्रिया चौधरी की नई राजनीति का मजाक उड़ाने वालों की तादाद भी बड़ी है लेकिन वो बेहद संजीदगी से इन आलोचनाओं को लेती है. पुष्पम प्रिया चौधरी अपने फेसबुक लाइव के जरिए कहती हैं कि आलोचना ही तो साहस पैदा करती है, कुछ नया कर गुजरने का.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here