27 साल बाद भगवान राम टेंट से पहुंचे मंदिर में, भक्तों में खुशी की लहर

0
605

राम भक्तों के लिए आज का दिन काफी अहम है. आज यानी की बुधवार को भगवान राम पिछले 27 साल से टेंट में थे आज वे मंदिर में विराजमान हो गए हैं. भगवान राम के मंदिर में विराजमान होने के बाद रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सतेंद्र दास अपने आंसू नहीं रोक सके लकिन वह कहते हैं कि सब भगवान की लीला थी. आपको बता दें कि भगवान राम लला पिछले 27 साल तीन महिने और 20 दिन बाद यानी की बुधवार को अस्थायी मंदिर में विराजमान हो गए हैं.

आपको बता दें कि रामलला 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में विराजमान हुए थे. उसके बाद से वे टेंट में विराजमान हैं. आज भगवान राम की अस्थायी मंदिर में विराजमान कराया गया है. विराजमान के बाद मंदिर के पुजारी आचार्य सतेंद्र दास ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वह मंदिर भले की कहने के लिए अस्थाई है लेकिन वह बहुत ही सुंदर हैं. आपको बता दें कि जब यह पूजा हो रहा था उस समय प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वहां मौजूद थे.

राम मंदिर निर्माण होने तक रामलला अस्थायी मंदिर में रहेंगे. यह मंदिर राम जन्मभूमि परिसर में ही हैं. यह मंदिर मानस भवन के नजदीक बनाया गया है. राम मंदिर निर्माण का कार्य पूरा होने के बाद राम लला अस्थायी मंदिर से रामजन्म भूमि में आ जाएंगे. इक पूरे कार्य़क्रम के दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वहां मौजूद थे. वहीं सीएम आदित्यनाथ ने मंदिर निर्माण को 11 लाख का चेक भी दिया है.
आपको बता दें कि बुधवार की सुबह करीब चार बजे विशेष आरती और पूजा के बाद रामजन्मभूमि परिसर में स्थित गर्भगृह में रामलला को स्नान और पूजा अर्चना किया गया. उसके बाद अस्थाई मंदर में शिफ्ट कर दिया गया. जहां पर फाइबर के नए मंदिर में रामलला को विराजमा्न करने के लिए अयोध्या के राजघराने की तरफ से चांदी का सिंहासन भेंट किया गया है. साढ़े नौ किलों का यह सिंहासन जयपुर से बनवाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here