नहीं बन रही बात, मांझी और कुशवाहा निराश, दिल्ली से लौटें खाली हाथ

बिहार में महागठबंधन का स्वरुप क्या होगा, ये अभी तक साफ होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा. ऐसा लगता है कि सचमुच राजद नेतृत्व महागठबंधन बनाने को ज्यादा इच्छुक दिखाई नहीं पड़ रहा. एक बार फिर से खबर आ रही है कि हिंदुस्तानी अवाम मोरचा सेकुलर के अध्यक्ष और पूर्व सीएम जीतन राम मांझी और पूर्व केंद्रीय मंत्री सह राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा खाली हाथ दिल्ली से पटना लौट गए हैं.

Tejashwi Yadav, Upendra Kushwaha, Jitan Ram Manjhi to interact ...

दिल्ली दौरे के बाद भी रणनीति विफल

Manjhi slams RJD after denial of Rajya Sabha ticket to Kushwaha ...

जानकारों का कहना है कि पिछले दो महीने में कुशवाहा और मांझी दो बार दिल्ली का दौरा कर चुके हैं और कांग्रेस के दरबार में लगातार हाजिरी लगाते आ रहे हैं लेकिन वहां से भी न तो कोई ठोस आश्वासन मिल रहा है और नहीं बात आगे बढ़ रही है. ऐसे में महागठबंधन के दोनों प्रमुख नेताओं की रणनीति भी काम आती नजर नहीं आ रही है. बिहार कांग्रेस के प्रभारी नेता शक्ति सिंह गोहिल ने मांझी को एक सप्ताह में सब कुछ ठीक करने का भरोसा दिलाया था लेकिन अभी तक इसमें कोई डेवलपमेंट दिखाई नहीं दे रहा.

मांझी और कुशवाहा को कांग्रेस से उम्मीद

Demands for Rahul Gandhi as Congress president Sonia Gandhi talks ...

राजद की ओर से फिलहाल चुप्पी जैसे माहौल को देखते हुए फिलहाल कुशवाहा और मांझी कांग्रेस से उम्मीद लगाए बैठे हुए हैं. हम सेकुलर के प्रदेश अध्यक्ष बीएल वैश्यंत्री ने बताया कि सोमवार को मांझी के साथ उनकी मुलाकात हुई लेकिन आगे क्या होगा, इसके लिए उन्होंने इंतजार करने को कहा है क्योंकि कांग्रेस से उम्मीद अब भी बाकी है. कांग्रेस नेतृत्व आगे क्या करता है, इस पर बहुत कुछ टिका हुआ है.

उपेंद्र कुशवाहा भी निराश

राष्ट्र्रीय लोक समता पार्टी में भी राजद के रुख से निराशा है. राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रवक्ता अभिषेक झा ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा दिल्ली से लौट कर पटना आ चुके हैं. महागठबंधन किस प्रकार से आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगा, इस पर फिलहाल पुरानी स्थिति ही कायम है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here