आखिर मांझी ने क्यों कहा-अपना लेंगे बौद्ध धर्म , बयान पर गरमाई सियासत

0
608

बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी एक बात फिर अपने बयान को लेकर सुर्ख़ियों में है. गुरुवार को संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर बोलते हुए कहा कि बिहार और भारत में दलितों के ऊपर होने वाले अत्याचार को लेकर निशाना साधा है. उन्होंने आज के दौर में जातिगत व्यवस्था को लेकर बोलते हुए कहा कि अगर इसी तरह हमारा समाज शोषित होता रहा तो हम सब बौद्ध धर्म अपना लेंगे .

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व हम नेता जीतन राम मांझी ने गुरुवार को बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर के महापरिनिर्वाण के अवसर पर कहा कि वर्तमान समय में भारत में में दलितों पर अत्याचार बढ़ गया है. बिहार भी इससे वंचित नहीं है.उन्होंने आगे कहा कि यह दलित समाज के लिए बेहद चिंता का विषय है. उन्होंने आगे कहा ​कि यदि यही स्थिति बरकरार रही तो हमें जल्द कोई ठोस कदम उठाना पडेगा .

हम नेता जीतन राम मांझी ने आगे कहा कि अगर हमारे समाज के प्रति स्थिति में सुधार नही हुआ तब हम कोई कठोर फैसला लेने से पीछे नही हटेंगे . उन्होंने तो खुलकर कहा को ऐसी स्थिति में मै अंबेडकर के रास्ते पर चलने का तैयार हूं. उन्होंने आगे कहा कि मैं अपने लोगों के साथ बौद्ध धर्म अपना सकता हूं. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि मैं कोई दूसरा धर्म नहीं अपनाऊंगा, पर हमें बौद्ध धर्म अपनाने में कोई हर्ज नहीं है.

इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं इस मसले पर अपने समर्थकों के साथ विमर्श करूंगा. उन्होंने दलित समाज को लेकर कहा कि दलित समाज को ब्राह्मणवाद के कारण पीछे रखा गया है और एक खास रणनीति के तहत हमलोगों को मुख्य धारा से अलग-थलग किया जा रहा है. इस कार्यक्रम के दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वृषिण पटेल, महाचंद्र प्रसाद समेत कई नेता उपस्थित थे.

  • 163
  •  
  •  
  •  
  •  
    163
    Shares
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here