डूबती अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए मनमोहन ने मोदी को दिए 03 महत्वपूर्ण सुझाव

कोरोना संकट के बीच देश बड़े आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है. कोरोना के भारत आगमन के कई साल पहले से ही भारतीय अर्थव्यवस्था रसातल में जाती हुई दिख रही थी. रही सही कोरोना ने पूरी कर दी है. आर्थिक विशेषज्ञों के अनुसार भारत की अर्थव्यवस्था डगमगा चुकी है. बड़े पैमाने पर रोजगार समाप्त हो चुका है. लगातार बढ़ती बेरोजगारी ने सरकार के पसीने छुड़ा कर रख दिए है.

वैसे मुश्किल दौर में दुनिया के प्रतिष्ठित अर्थशास्त्रियों में से एक और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार को तीन महत्वपूर्ण सुझाव दिए हैं. डॉ मनमोहन सिंह ने कहा कि ऐसी परिस्थिति से देश को उबारने के लिए कुछ बड़े कदम उठाए जाने की जरुरत है.

Galwan Clash: 'Disinformation No Substitute For Diplomacy', Former ...
लोगों की आजीविका करें सुरक्षित

डॉ मनमोहन सिंह ने कहा कि सबसे पहले तो सरकार लोगों की आजीविका को सुरक्षित करें यानी कि प्रयास करे कि किसी भी हाल में लोगां का रोजगार न खत्म हो. इसके साथ ही सरकार आम लोगों की आर्थिक मदद करे जिससे की उनके खर्च करने की क्षमता बरकरार रहे या बढ़ सके.

पूंजी उपलब्ध कराए

पूर्व प्रधानमंत्री ने सरकार को दूसरी सलाह देते हुए कहा कि सरकार को सरकारी क्रेडिट गारंटी जैसे कार्यक्रमों की शुरुआत करनी चाहिए जिसके जरिए व्यापार और उद्योगों को पर्याप्त पूंजी मिल सके. इसके साथ ही अपने तीसरे सलाह में मनमोहन ने कहा कि सरकार को वित्तीय क्षेत्र में संस्थागत स्वायत्ता और प्रक्रियाओं के माध्यम से सुधार की मुहिम चलानी होगी.

वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर देश के आर्थिक ढांचे को तबाह करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार की नीतियों की वजह से आज देश का 14 करोड़ युवा बेरोजगार हो चुका है.

अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या पीएम नरेंद्र मोदी, पूर्व पीएम डॉ मनमोहन सिंह की सलाह को मानते हैं या फिर उन्हें खारिज करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here