बिहार सरकार का दावा, प्रवासी मजदूरों को मिला है रोजगार, यहां कर रहे हैं काम

0
287

कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में लागू हुए लॉकडाउन के बीच में प्रवासी मजदूर अपने अपने प्रदेश लौट आए हैं. जिसके बाद से प्रवासी मजदूरों के बिहार में क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया. उसके बाद सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती इस बात की थी कि इन्हें रोजगार कहा और कैसे दिया जाएगा. इधर कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा है कि अभी हाल ही में बिहार की औद्योगिक नीति में बिहार सरकार ने सकारात्मक परिवर्तन किया है, जिससे राज्य में बड़े पैमाने पर निवेश होगा, उन्होने कहा कि इनसे लोगों के बीच में रोजगार उत्पन्न होगा.

मंत्री डॉ. प्रेम ने कहा कि राज्य की सरकार भी कृषि सहित अन्य कई क्षेत्रों में लोगों को रोजगार देने की दिशा में गंभीरता से प्रयास कर रही है. कृषि के क्षेत्र में भी रोजगार की असीम संभावनाएं हैं. सरकार द्वारा इस पर भी तेजी से काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि राज्य में मखाना, मशरूम, शहद सहित 14 विशेष फसलों में भी औद्यानिक उत्पाद विकास योजना के माध्यम से बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है.

ड़ॉ. प्रेम कुमार ने कृषि से जुड़ी बातों का जिक्र करते हुए कहा कि बड़े पैमाने पर लोगों को रोजगार मिल रहा है. राज्य में समय पर वर्षा होने से बिहार में वापस लौटे प्रवासियों के लिए कृषि के क्षेत्र में जहां रोजगार का अधिक से अधिक अवसर मिल रहा है, वहीं राज्य के किसानों को भी धान की खेती करने में मजदूरों की उपलब्धता सहज हो रही है, जिससे किसान आसानी से धान की रोपनी कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here