पटना में एक्टू ने किया न्यूनतम ऑटो किराये में बढ़ोतरी का ऐलान, आरटीए ने कहा नहीं बनता है कोई औचित्य!

0
666

पटना में CNG के दामों में बढ़ोतरी के बाद ऑटो चालक संघ ने पटना में किराया बढ़ाने की मांग की थी. अपने मांग पर ऑटो चालकों ने अब पटना में न्यूनतम किराया 7 के जगह 10 करने का निर्णय लिया है. बिहार राज्य ऑटो रिक्शा टेंपो चालक संघ एक्टू ने यह तय किया है कि पटना जंक्शन, दानापुर, सिटी और फुलवारी रूटों पर चलने वाली ऑटो के न्यूनतम किराएं को बढ़ाने का निर्णय लिया है.

इसके तहत सोमवार से ऑटो के पहले ठहराव यानि दो किलोमीटर के लिए न्यूनतम किराया सात रूपये की जगह दस रूपये लिया जायेगा. हालांकि अन्य दुरी के लिए ऑटो किराये में कोई बदलाव नहीं किया गया. अन्य दुरी का किराया पहले के तरह ही यथावत ही रहेगा.

ऑटो संघ के द्वारा पटना में तीन मुख्य रूटों में न्यूमतम ऑटों किराये का निर्णय लिया गया है. लेकिन इस फैसले के साथ अन्य रूटों पर भी किराये में बढ़ोतरी की संभावना जताई जा रही है.

एक्टू के उपाध्यक्ष नवीन मिश्रा ने 2 किमी की दुरी के लिए 7 की जगह 10 रूपये का न्यूनतम किराया तय किये जाने की जानकारी देते हुए यह कहा है कि सीएनजी के दामों लगातार वृद्धि हो रही है. साथ ही मंहगाई भी बढ़ रही है. इस वजह से ऑटो किराये में आंशिक रूप से बढ़ोतरी का फैसला लिया गया है. यह किराया फिलहाल पटना जंक्शन से दानापुर, फुलवारीशरीफ और पटना सिटी रूट पर लागू होगा.

आपको यह बता दें कि एक्टू ने जहां आंशिक किराए में बढ़ोतरी का निर्णय लिया है तो वहीँ आरटीए ने यह कहा है कि  इसको लेकर कोई निर्णय नहीं लिया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो आरटीए सक्रेटरी राकेश कुमार ने यह कहा है कि अभी हाल ही में पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतें घटी हैं. ऐसे में ऑटो किराये में बढ़ोतरी का कोई औचित्य नहीं बनता है.

उन्होंने यह भी कहा कि अगर इस संबंध में कोई शिकायत मिलती है तो उस पर का’र्रवा’ई की जाएगी. क्योंकि किराये में बढ़ोतरी के संबंध में परिवहन विभाग से कोई पत्र नहीं प्राप्त नहीं हुआ है. इसलिए किराये में बढ़ोतरी का कोई औचित्य नहीं बनता है. मुझे तीन ऑटो यूनियन में से एक द्वारा किराये में बढ़ोतरी की जानकारी दी गई है. ऑटो किराया बढ़ाने वाले यूनियन को उसका कारण भी बताना होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here