मोदी सरकार ने 4 करोड़ से 60 लाख अल्पसंख्यकों की दी छात्रवृति, 140 युवा सिविल सर्विस में चुने गए

वर्ष 2014 के पहले जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी तब मात्र 02 करोड़ 94 लाख अल्पसंख्यक छात्रों को छात्रवृति मिली थी लेकिन जब से नरेंद्र मोदी देश कें प्रधानमंत्री बनें हैं, तब से लेकर अब तक 04 करोड़ 60 लाख अल्पसंख्यक छात्रों को छात्रवृत चलाई है. ये खुलास किया है केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने. नकवी ने कहा कि ये मोदी सरकार की नीतियों का ही नतीजा है कि 140 अल्पसंख्यक युवाओं का चयन इस साल प्रशानिक सेवा के लिए हुआ है.

Some speaking language of separatists': Mukhtar Abbas Naqvi slams ...

नयी उड़ान योजना का मिला लाभ

नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक नौजवानों में प्रतिभा की कमी नहीं है लेकिन पहले कभी इस तरह का माहौल बनाने का प्रयास नहीं हुआ. अब मोदी सरकार की नयी उड़ान योजना के तहत अल्पसंख्यक युवा सिविल सर्विस की तैयारी कर रहे हैं और सफल हो रहे हैं. पिछले तीन सालों से 150 के लगभग अल्पसंख्यक नौजवान प्रशासिनक अधिकारी बन रहे हैं. यह बदलाव नरेंद्र मोदी सरकार की समावेशी नीति की वजह से हो रहा है.

निशुल्क कोचिंग की सुविधा

केंद्रीय मंत्री के अनुसार अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के माध्यम से नई उड़ान नया सवेरा कार्यक्रम के तहत मोदी सरकार अल्पसंख्यक युवाओं को प्रशानिक, मेडिकल, इंजीनियरिंग, बैंकिंग सेवाओं के लिए देश भर में मुफ्त कोचिंग चलवा रही है, जिसका लाभ अल्पसंख्यक युवाओं को मिल रहा है और बदलाव की ये नई कहानी लिखी जा रही है. जबकि केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू का अल्पसंख्यक नौजवानों की इस सफलता पर कहना है कि सिविल सर्विस में इस उपलब्धि की वजह नरेंद्र मोदी की सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास की नीति है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here