कोरोना वायरस को लेकर प्रदेश में मुखिया को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी, करना होगा यह काम

0
854

बिहार में कोरोना वायरस के लड़ाई लड़ने के लिए बिहार सरकार ने एक अहम फैसला लिया है. बिहार सरकार अब कोरोना की लड़ाई में पंचायत के मुखिया को बड़ी जिम्मेदारी देने वाली है. कोरोना संक्रमण को लेकर मुखिया को बड़ी जिम्मेदवारी की बात कही जा रही है. बुधवार को मुखिया और राज्य के मुख्य सचिव के साथ शाम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए पंचायतों में मौजूद मुखिया के साथ हालात की समीझा की जाएगी और जवाबदेही ही तय की जाएगी.

आपको बता दें कि बिहार में लगभग 8000 से ज्यादा मुखिया है. ऐसे में वायरस के संक्रमण में रोकथाम को लेकर मुखिया को जिम्मेदारी मिल सकती है. राज्य सरकार का मानना है कि सुदूर ग्रामीण इलाके में जो लोग भी राज्य के बाहर से आए हैं उनकी पहचान मुखिया कर सकते हैं. बिहार सरकार ने कहा है कि पंचायत में किसी को कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई देता है तो उसे कैसे बचाना है उसका इलाज कहा कराना है इन सभी मामलों की जिम्मेदारी मुखिया के उपर आ सकती है. इधर राज्य के मुख्य सचिव ने संकेत दिए हैं कि पंचायत स्तर पर ही क्वारेंटीन सेंटर बनाने की जरुरत हैं.

आपको बता दें कि कोरोना वायरस की शुरुआत चीन के बुहान शहर से इसकी शुरुआत हुई थी. इसके बाद यह बीमारी विश्व के कई देशों में फैल गया है. इस बीमारी से अबतक 10 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. इधर बीमारी से लड़ने के लिए बिहार सरकार हर संभव प्रयास किया जा रहा है. पूरे प्रेदेश में लॉकडाउन किया गया है. लोगों को घर से बाहर निकलने से मना किया गया है. लोगों को घऱ में ही रहने की सलाह दी गई है. इसी कड़ी में गांवों में इस बीमारी से फैलने से रोकने के लिए बिहार सरकार ने मुखिया को इसकी जिम्मेदारी देने की बात कह रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here