पीला गमछा ओढ़ कर घूमने लगे युवा, नई पार्टी RJJP की दिखने लगी धमक !

अबकी बार बदलो बिहार के नारे के साथ नई नवेली राष्ट्रीय जन जन पार्टी ने पीले गमछे को अपना प्रतीक चिन्ह बनाया है. बिहार के अलग अलग हिस्सों में इस गमछे के साथ नौजवान नजर आने लगे हैं. इस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार हैं, जिनकी पहचान भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच के मुखिया के तौर पर है, पर अब वो राष्ट्रीय जन जन पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं. पार्टी बनाने के पूर्व आशुतोष ने भूमिहार और ब्राह्मण समाज के बीच जमकर मेहनत की और युवाओं की एक राज्यव्यापी टीम बनाई. यही वजह है कि पार्टी गठन से इतने कम समय में इनका संगठन बिहार के सभी जिलों में नजर आने लगा है.

Rahul Kr Pandey on Twitter: "Congratulation Bihar you got a new ...

दलितों को भी साथ लेकर चलने की कवायद

राष्ट्रीय जन जन पार्टी का जन्म भले ही भूमिहार, ब्राह्मण एकता मंच की कोख से हुआ हो लेकिन दलितों को लेकर भी ये बेहद सकारात्मक दिखाई देते हैं. आरजेजेपी के फेसबुक पेज को देखें तो वहां दलितों के बीच सदस्यता अभियान की तस्वीर पोस्ट करते हुए कहा गया है कि बिहार के प्रथम सीएम डॉ श्रीकृष्ण सिंह के सपनों का बिहार बिना दलितों के सशक्तिकरण के संभव नहीं हो सकता है. मालूम हो कि डॉ श्रीकृष्ण सिंह भूमिहार समाज से आते थें और उन्होंने हिंदू मंदिरों में दलितों के प्रवेश को लेकर काफी संघर्ष किया और दलितों को मंदिरों में प्रवेश दिलाने में सफल हुए थें.

औद्योगिक क्रांति का सपना

RJJP के अध्यक्ष आशुतोष कुमार किसानों ...

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार के अनुसार पिछले 30 सालों में बिहार की जनता को ठगने का काम सभी सरकारों के द्वारा हुआ है. बिहार का किसान हो, युवा हो या मजदूर हो, सभी खुद को लाचार महसूस करत रहे हैं. पिछले 30 सालों से सरकारों ने बिहार को बेरोजगार पैदा करने की फैक्ट्री बना कर रख दिया है. आशुतोष कुमार बिहार में औद्योगिक क्रांति को विकास का आधार बताते हैं और कहते हैं कि हमारी पार्टी का उद्देश्य बिहार को देश के विकसित राज्यों की श्रेणी में लाना है और ये औद्योगिक क्रांति के जरिये ही साकार होगा. औद्योगिक क्रांति में बड़े, छोटे और मध्यम सभी प्रकार के उद्योगों का समेकित प्रयास किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here