जानिए, प्रशांत किशोर को लेकर क्या कहा CM नीतीश कुमार ने

0
294

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर के रिस्तों को लेकर सियासी गलियारों में अटलकलों का बाजार गरम था. लेकिन यह अटकलबाजी उस समय धारासाही हो गई जब जदयू के राष्ट्रीय परिषद की बैठक में प्रशांत किशोर को लेकर नीतीश कुमार ने स्पष्ट कर दिया कि प्रशांत किशोर जेडीयू के लिए एक अहमियत रखते हैं. राष्ट्रीय परिषद की बैठक से ठीक एक दिन पहले नीतीश कुमार ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए रणनीति बनाने का जिम्मा प्रशांत किशोर को सौंपा था.

आपको बता दें कि राष्ट्रीय परिषद की बैठक में नीतीश कुमार की बगल वाली कुर्सी पर प्रशांत किशोर बैठे थे. जिन नेताओं को राष्ट्रीय परिषद की बैठक में संबोधन करना था उस लिस्ट में प्रशांत किशोर का नाम भी शामिल था, लेकिन संबोधन के लिए बुलाए जाने पर पीके मना करने लगे. तब नीतीश कुमार ने खुद प्रशांत किशोर को संबोधन करने का इशारा किया. राष्ट्रीय परिषद को संबोधित करते हुए पीके ने कहा कि वह अगले 3 साल में पार्टी को राष्ट्रीय स्तर पर तीसरे नंबर की पार्टी बनाने का लक्ष्य पूरा करना चाहते हैं प्रशांत किशोर ने कहा कि वह पार्टी के लिए लगातार कमिटेड हैं और नीतीश कुमार के न्याय के साथ विकास की नीति उन्हें पसंद है.


इसके बाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने राष्ट्रीय परिषद को संबोधित करते हुए कहा कि प्रशांत किशोर ने 7 निश्चय का जो ब्लू प्रिंट तैयार किया था, बिहार में सरकार आज भी उस पर काम कर रही है. भले ही महागठबंधन की सरकार बिहार में खत्म हो गई हो लेकिन एनडीए के साथ रहकर भी वह सात निश्चय पर काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर ने जिस सात निश्चय का मॉडल तैयार किया उसे आज केंद्र सरकार अपना रही है. राष्ट्रीय परिषद की बैठक में खुले मंच से नीतीश कुमार ने अपनी पार्टी के साथ-साथ विपक्ष के उन नेताओं की गलतफहमी दूर कर दी जो यह मान बैठे थे कि प्रशांत किशोर अब नीतीश कुमार से दूरी बना बैठे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here