IPL 2022 : ‘ये क्या मजाक है ?’ DRS की अनुपलब्धता के कारण CSK के डेवोन कॉनवे के आउट होने के बाद विवाद, एमएस धोनी ने प्रतिक्रिया दी

0
2024

IPL 2022 बेहद दिलचस्प मोड़ पर खड़ा है. अब जो मुकाबले हो रहे हैं, उसमें टीमों के किस्मत तय हो रहे हैं कि वो आगे जाएंगे या नहीं. गुरुवार, 12 मई को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में Mumbai Indians(MI) ने Chennai SuperKings(CSK) को 5 विकेट से हराकर प्लेऑफ्स की रेस से बाहर कर दिया. चेन्नई शुरुआत से ही मैच में पिछड़ गई जब उन्होंने पावरप्ले में 4 विकेट गंवा दिए थे. टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई की टीम सिर्फ 97 रनों पर ढेर हो गई, इस लक्ष्य को मुंबई की टीम ने शुरूआती झटकों के बाद 31 गेंद रहते हासिल कर लिया. बाएं हाथ के युवा बल्लेबाज Tilak Verma ने मुंबई की जीत में अहम योगदान दिया. लेकिन चेन्नई की हार और मुंबई की जीत के बीच एक विवाद भी खड़ा हो गया है.

DRS पर विवाद, कॉनवे के विकेट का मामला

चेन्नई बनाम मुंबई मैच के शुरुआत में एक ही विवाद ने जन्म ले लिया जब MI के तेज गेंदबाज Daniel Sams की गेंद पर अंपायर ने चेन्नई के सलामी बल्लेबाज Devon Conway को एलबीडबल्यू आउट दे दिया. ऐसा लग रहा था जैसे गेंद लेग स्टंप से बाहर हो और कॉनवे भी रिव्यु की मांग करते हैं लेकिन हैरान करने वाली बात ये हुई कि वानखेड़े में उस वक्त DRS की सुविधा उपलब्ध ही नहीं थी. अब ये पावर-कट था या फिर कोई और तकनीकी खराबी लेकिन इससे भारतीय क्रिकेट और बोर्ड पर तो सवाल खड़े हो गए हैं. DRS न होने की वजह से कॉनवे को पवेलियन लौटना पड़ा लेकिन जो हुआ वो कहीं से भी सही नहीं माना जाएगा. कॉनवे अच्छे फॉर्म में हैं और अगर वो गलत आउट दिए गए तो ये चेन्नई के फैंस और टीम के लिए बहुत बड़ा ब्लंडर था. इस वाक्ये ने सोशल मीडिया पर बखेड़ा खड़ा कर दिया. एक तो पहले ही फैंस लीग में खराब अंपायरिंग की वजह से गुस्से में हैं ऊपर से ये घटना, फैंस को काफी निराश किया है. लोग BCCI पर सवाल उठा रहे हैं और चेन्नई की हार से ज्यादा इस वाक्ये से दुखी हैं.

रिप्ले में साफ देखा गया कि गेंद लेग स्टंप से बाहर जा रही थी, यानी अगर DRS की सुविधा होती तो कॉनवे अपना विकेट नहीं गंवाते. जब कॉनवे पवेलियन लौटे तो उनको कप्तान धोनी के साथ रिप्ले देखते हुए देखा गया.

सोशल मीडिया पर भड़के फैन्स

इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर क्रिकेट लवर्स और खासकर चेन्नई के फैंस काफी गुस्से में नजर आए. कई यूजर ने सोशल मीडिया पर जमकर भड़ास निकाली.

एक यूजर ने कॉनवे को अनलकी कहा.
एक ने लिखा, “इतना बड़ा लीग जिसमें इतना पैसा जा रहा है और पावरकट के कारण कोई डीआरएस नहीं है ?? डेवोन कॉनवे को वहां पूरी तरह से लूट लिया गया था. वैसे यह एक और अंपायरिंग हाउलर था! जब यह इतना नीचे की ओर जा रहा था तो यह इतना सीधा निर्णय जैसा दिखता था.”

एक ने लिखा, ‘यह एक मजाक है. आपको निश्चित रूप से इससे बेहतर करने की जरूरत है, @IPL @BCCI
डेवोन कॉनवे के लिए महसूस करें. वह बदकिस्मत था.’

10 गेंदों के बाद हुआ ठीक

गौरतलब है कि सिर्फ 10 गेंदों के बाद वापस DRS सुविधा पुनर्स्थापित कर दिया गया. लेकिन इन्हीं 10 गेंदों में तो खेल हो गया. दरअसल, स्टेडियम में पावर कट की वजह से ऐसी घटना घटी. लाइट टावरों में से एक टावर टॉस के वक्त खराब हो गया, जो कि कुछ मिनटों में सुधर गया लेकिन इसने उतने देर के लिए DRS सुविधा को बाधित कर दिया और ये चेन्नई के लिए ही मुसीबत बना. मैच के बाद जब चेन्नई के कप्तान धोनी से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ये किसी के भी पक्ष या विपक्ष में जा सकता था लेकिन ये हमारे साथ हुआ, हम बदकिस्मत रहे. उन्होंने टीम की खराब बल्लेबाजी को हार का जिम्मेदार बताया. इस हार के साथ चेन्नई भी मुंबई के साथ प्लेऑफ्स से बाहर हो गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here