बिहार में अब आपको अपना प्लॉट खोजना हुआ आसान, एक क्लिक से मिलेगी पूरी जानकारी

0
700

बिहारवासियों के लिए खुशखबरी है. अब आपको अपनी जमीन को पहचानने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी. अब हर प्लॉट के लिए एक अलग यूनिक आईडी (Unique id) से आपके जमीन की पहचान होगी. कंप्यूटर पर यूनिक आईडी डालते ही जमीन की पूरी जानकारी आपके सामने होगी. बिहार में इसकी शुरुआत बहुत ही जल्द हो जाएगी.

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग (Revenue and Land Reforms Department) इस नए प्रयोग को लेकर लोगों से राय मांग रहा है. नये मामले को लेकर भू अभिलेख एवं परिमाप निदेशालय (Directorate of land records and measurement) के निदेशक जय सिंह (JaY Singh) ने बताया कि 15 मार्च तक लोग अपनी राय दे सकते हैं. विभाग ने सुझाव मोबाइल न. के अलावा ई-मेल आईडी से मांगा है. आम लोगों की राय आ जाने के बाद इसका फाइनल प्रारुप तैयार किया जाएगा. यूनिक आइडी को लेकर बताया जा रहा है कि यूनिक आइडी 17 अंको का होगा. जिसमें पहले का 6 अंक राजस्व ग्राम के लिए हैं. उसके बाद का तीन अंक राजस्व थाना नं. के लिए है. आखिरी के पांच अंक खेसरा नंबर को प्रर्दशित करेगा.

यूपी में इसपैटर्न को लागू कर दिया गया है. अब बिहार की बारी है. दोनों राज्यों में सिर्फ एक डिजिट का अंतर है. यूपी में जहां 16 अंकों का यूनिक आईडी होगा वहीं बिहार में 17 अंकों का होगा. यूनिक आइडी में सरकारी जमीन चार श्रेणी में बंटेंगी.गैरमजरूआ आम, गैरमजरूआ खास, कैसरे हिन्द एवं खास महाल. रैयती जमीन की भी कई किस्में होंगी। विभागीय मंत्री रामनारायण मंडल ने कहा कि योजना के लागू होने पर जमीन के मामले में पारदर्शिता आएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here