राजद सुप्रीमो का आदेश- 2020 विधानसभा की तैयारियों में जुटे नेता और कार्यकर्ता

0
494

चारा घोटाला मामले में रांची के रिम्स अस्पताल में इलाज करा रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मुलाकात करने का दिन होता है. ऐसे में शनिवार को मुलाकात करने वालों में आरा के विधायक डॉ. नवाज आलम, बिहार के पूर्व मंत्री अब्दुल गफूर और सिमरी बख्तियारपुर से नवविर्वाचित विधायक जफर आलम शामिल थे.
मुलाकात करने के बाद विधायक जफर आलम ने कहा कि लालू यादव की तबीयत अभी ठीक नहीं है. बिहार में हुए उपचुनाव की जानकारी है. लालू यादव ने 2020 के विधानसभा चुनाव में तैयारी में जुटने की बात कही है.

वही, बिहार के पूर्व मंत्री अब्दुल गफूर ने लालू प्रसाद के स्वास्थ पर चिंता जताई. न्यायालय पर भरोसा जताते हुए कहा कि जल्द हमारे नेता बाहर निकलेंगे. उन्होंने कहा कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर लालू प्रसाद ने निर्देश दिया है कि जनता के बीच जाएं और ज्यादा से ज्यादा लोगों को पार्टी के साथ जोड़ें.
लालू यादव से मुलाकात कर बाहर निकले आरा विधायक नवाज आलम ने कहा कि लालू प्रसाद हमारे मान-सम्मान हैं. आज हमलोग जहां खड़े हैं कोई धन्ना सेठ घर के नहीं हैं. सब इनके ही बदौलत है.


आपको बता दें कि लालू प्रसाद यादव पर चारा घोटाले मामले में 14 साल की कैद की सजा सुनाई गई है. फिलहाल उन्हें रांची के रिम्स अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. अस्पताल डॉक्टरों के द्वारा बताया गया कि लालू प्रसाद के दोनों किडनी में संक्रमण है और उनका ब्लड शुगर भी स्थिर नहीं रहता है. उन्होंने खाना भी कम कर दिया है. लालू प्रसाद यादव का रिम्स में इलाज कर रहे मुख्य चिकित्सक डॉ उमेश प्रसाद ने रांची में बताया कि जीएफआर (ग्लोमीरूलर फिल्ट्रेशन) घट जाने के कारण लालू की दोनों किडनी में संक्रमण पाया गया है और उनका ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर भी स्थिर नहीं है जिसके लिए उन्हें दवा दी जा रही है.
रिम्स में लालू यादव का इलाज कर रहे डॉ. पी.के.झा ने बताया कि ‘लालू यादव की किडनी केवल 37 फीसदी काम कर रही है. उनकी किडनी को 63 फीसदी तक नुकसान पहुंचा है. पिछले एक सप्ताह से उनकी स्थिति अस्थिर है. उन्होंने कहा कि लालू यादव के खून में संक्रमण है. लालू को एक छोटा फोड़ा हो गया था, जो बाद में बड़ा हो गया. इसके बाद ऑपरेशन किया गया. फोड़े के उपचार के दौरान संक्रमण का भी पता चला. किडनी की काम करने की क्षमता 50 फीसदी से 37 फीसदी तक कम हो गई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here