‘तेजस’ बनाने वाले पद्मश्री डॉ. मानस बिहारी वर्मा का हार्ट अटैक से निधन

0
498

बिहार के सुपर सोनिक लड़ाकू विमान तेजस को बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले पद्मश्री डॉ. मानस बिहार वर्मा का हार्ट अटैक से निधन हो गया. सोमवार की देर रात अपने दरभंगा लहेरियासराय स्थित आवास पर उन्होंने अंतिम सांस ली. आपको बता दें कि मानस बिहारी वर्मा DRDO बैंगलुरू में रक्षा वैज्ञानिक के रूप में काम किए थे वे पूर्व राष्ट्रपति APJ अब्दुल कलाम के साथ काम किए थे.

बताया जा रहा है कि उनका निधन सोमवार की रात करीब 11.45 बजे लहेरियासराय के केएम टैंक स्थित आवास पर हृदय गति रुकने से हो गया. डॉ. वर्मा के भतीजे मुकुल बिहारी वर्मा ने इसकी पुष्टि की. डॉ. वर्मा घनश्यामपुर प्रखंड के बाऊर गांव के मूल निवासी थे. वर्तमान में वे केएम टैंक मोहल्ले में किराए के मकान में रह रहे थे. आपको बता दें कि डॉ. वर्मा DRDO बेंगलुरु में रक्षा वैज्ञानिक व पूर्व राष्ट्रपति एपीजे डॉ. अब्दुल कलाम के सहयोगी रह चुके थे. लड़ाकू विमान ‘तेजस’ को बनाने में डॉ. वर्मा की महत्वपूर्ण भूमिका थी. वे अविवाहित थे. उनके निधन की खबर मिलते ही केएम टैंक स्थित उनके आवास पर बड़ी संख्या में लोग पहुंचने लगे हैं. उनका अंतिम संस्कार बाऊर में किया जाएगा.

आपको बता दें कि डा. वर्मा को दर्जनों पुरस्कार से नवाजा जा चुका था. उन्‍हें डीआरडीओ के ‘साइंटिस्ट ऑफ द इयर’ और ‘टेक्नोलॉजी लीडरशिप अवॉर्ड’ से क्रमशः पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने सम्‍मानित किया था. 2018 में उन्‍हें पद्मश्री सम्‍मान दिया गया. डा.वर्मा, रिटायरमेंट के बाद साल 2005 से अपने गांव बाऊर में रह रहे थे. वह अलग-अलग NGO के जरिए बच्चों और शिक्षकों के बीच विज्ञान का प्रसार करने में जुटे रहते थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here