पहले ही बार में BPSSC की परीक्षा में मारी बाज़ी, पूरे गाँव में ख़ुशी की लहर

0
1298

आज के युग में कोई ऐसा क्षेत्र नहीं है जहाँ बेटियां बेटों से किसी मामले में कम है भले ही वह सेना में भर्ती होकर देश की सेवा करने का काम हो या फिर कोई भी बड़ा काम ही क्यूँ न हो. एक बार फिर एक बेटी ने अपने टैलेंट से नाम रोशन किया है. बिहार के Bhojpur की रहने वाली गोल्डी कुमारी ने अपने पहले ही attempt में BPSC की परीक्षा में बाजी मार ली है.

महिला दिवस के अवसर पर घोषित रिजल्ट में गोल्डी कुमारी राजकीय पुलिस में प्रखंड से पहली महिला पुलिस अधिकारी के रूप में चुनी गई हैं. गोल्डी कुमारी की नियुक्ति प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद सब इंस्पेक्टर के रूप में होगी. गोल्डी कुमारी के परिवार ने शुरू से ही शिक्षा के क्षेत्र में काफी नाम कमाया है. गोल्डी का भी शुरू से पढाई की तरफ बहुत ज्यादा रुझान था.

गोल्डी कुमारी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गाँव के ही मनभरणा हाई स्कूल से प्राप्त करते हुए 2011 में स्कूल टॉपर बनीं. इसके बाद फिर 2013 में बीडी कॉलेज की छात्रा के रूप में बिहार इंटरमीडिएट में टॉप करते हुए 5वां स्थान प्राप्त किया. गोल्डी कुमारी का चयन 63वीं और 64वीं BPSC के पीटी में भी हुआ है.

रिजल्ट आने के बाद एक तरफ जहाँ पुरे गाँव में ख़ुशी की लहर थी वहीँ दुसरे तरफ उनके परिवार वालों की आँखों में ख़ुशी के आंसू थे. शिक्षक पिता विधानचन्द राय ने भावुक होते हुए बताया की बेटा-बेटी की शिक्षा में कोई फर्क नहीं किया उसी का ये नतीजा है. हेडमास्टर मां सीता सहित सभी परिजन भावुक हैं.

  • 760
  •  
  •  
  •  
  •  
    760
    Shares

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here