पटना AIIMS के नर्सिंग स्टाफ हड़ताल पर, अस्पताल की चिकित्सा सेवा ठप

0
204

कोरोना वायरस के संक्रमण से बिहार समेत पूरा देश जुझ रहा है. बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या में रोज इजाफा हो रहा है. इधर पटना एम्स के नर्सिग स्टाफ ने गुरुवार से हड़ताल कर दिया है. इस हड़ताल में लगभग 400 नर्सिंग स्टाफ शामिल हैं. नर्सिग स्टाफ्स की कई मांग है. जिसमें वेतन वृद्धि के साथ ही स्थाई स्टाफ्स की तरह सुविधा की मांग की जा रही है.

आपको बता दें कि सभी नर्सिंग स्टाफ्स पटना एम्स गेट के सामने खड़ा हो गए हैं और सभी काम को बंद कर दिया है. आपको बता दें कि हड़ताल कर रहे कर्मचारी एम्स में कॉन्ट्रैक्ट बेसिस पर पिछले कई सालों से कार्यरत हैं. एम्स की शुरुआत जब हुई तब से लेकर आज तक ये लोग कॉन्ट्रैक्ट नर्सिंग ऑफिसर के तौर पर एम्स में सहयोग और अपनी भागीदारी दे रहे हैं. हड़ताल कर रहे कर्मियों ने मांग की है कि कोविड काल में अनुबंधित नर्सिंग ऑफिसर जब बीमार होता है और भविष्य में उसको स्वास्थ्य के संबंधित कोई भी तकलीफ होती है तो उनको भी परमानेंट स्टाफ की तरह मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराई जाए.

पटना एम्स मे आंदोलन कर रहे नर्सिंग स्टाफ्स का कहना है कि समान कार्य समान वेतन के केंद्र सरकार के नियम एवं नीतियों को देखते हुए हमारी सैलरी को भी बढ़ाया जाए. साथ ही हमें भी परमानेंट ऑफिसर की तरह छुट्टियां दी जाएं और एम्स के अधीन लिया जाए. मालूम हो कि पटना के एम्स को कोरोना के मरीजों के लिए डेडिकेटेड अस्पताल बनाया गया है, ऐसे में अनुबंध पर कार्यरत कर्मियों की हड़ताल प्रबंधन की चिंता बढ़ा सकती है. कर्मचारियों की हड़ताल के मद्देनजर अस्पताल परिसर में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है.

आपको बता दें कि इससे पहले पटना एम्स में सफाई कर्मचारियों ने भी आंदोलन किया था. उनके आंदोलन के अगले ही दिन इनकी मांग मान ली गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here