बिहार में जल्द शुरू होगा एक और ग्रीनफील्ड कोरिडोर का काम, इन जिलों के लोगों को मिलेगा लाभ

0
562

बिहार में जल्द ही एक ओर ग्रीन फील्ड कोरिडोर और एक्सप्रेस वे परियोजना की शुरुआत होने जा रही है. जिसके बाद बिहार और UP के कई जिलों के बीच का आवागमन और भी बेहतर हो जायेगा. अभी हाल ही में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सिक्स लेन पुल का उद्घाटन किया था. जो पटना को शाहाबाद और पूर्वांचल से जोड़ता है.

पटना से आरा बक्सर आने-जाने लोग भी इस पुल की मदद से पहले के मुकाबले बहुत ही कम समय में अपने गंतव्य को पहुंच सकते हैं. जबकि अब एक और ग्रीन फील्ड कॉरिडोर का निर्माण होने जा रहा है जो पटना से आरा-बक्सर-हैदरिया-बलिया तक जायेगा.

इसकी जानकारी केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कोइलवर के पुल के उद्घाटन के मौके पर दी थी. इस दौरान उन्होंने यह कहा कि पटना से आरा-बक्सर-हैदरिया-बलिया तक ग्रीन फील्ड कॉरिडोर की लंबाई 118 किलोमीटर होगी. चार लेने की इस ग्रीन फील्ड कॉरिडोर के निर्माण में 8500 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

इस नए कॉरिडोर का निर्माण चार चरणों में होगा. जिसे पूर्वांचल एक्सप्रेस वे और आरा रिंग रोड से भी जोड़ा जायेगा. इस कॉरिडोर के पूर्वांचल एक्सप्रेस से जुड़ने के बाद सड़क मार्ग से पटना और आरा से दिल्ली की दुरी लगभग आधी हो जाएगी. कॉरिडोर आरा रिंग से जोड़ने के लिए 21 किमी कनेक्टिंग रोड बनाया जायेगा. इस रोड के निर्माण में 381 करोड़ रूपये की लागत आयेगी.

सिक्स लेन पुल के उद्घाटन के मौके पर अपने संबोधन में केंद्रीय मंत्री गड़करी ने यह भी कहा कि अगले तीन साल में बिहार में अमेरिका की सड़कों बराबर रोड बनाये जायेंगे. बिहार में एक लाख करोड़ रुपये खर्च करके आठ ग्रीन फिल्ड कॉरिडोर का निर्माण किया जायेगा.

वहीँ इस साल के अंत बिहार में कई फोरलेन सड़कों का निर्माण भी पूरा कर लिया जायेगा. जबकि कई नई सड़कों का टेंडर भी इसी वर्ष जारी किया जायेगा. उन्होंने कहा कि जल्द से पटना से बिहटा वाली एलिवेटेड सड़क के काम को भी शुरू किया जाएगा. वहीं पटना-आरा-सासाराम  कल लिए भी ग्रीनफील्ड कॉरिडोर बनाया जायेगा.

इसके तहत सोन नीद पर आरा के पास तीन किलोमीटर लंबे फोरलेन ब्रिज का निर्माण किया जायेगा. इसके तहत एक इकॉनॉमिक कॉरिडोर का निर्माण किया जायेगा. 192 किलोमीटर लंबे इकॉनॉमिक कॉरिडोर का निर्माण वाराणसी से बिहार के औरंगाबाद तक किया जायेगा.

इसकी लम्बाई उत्तर प्रदेश में 57 किलोमीटर और बिहार में 135 किलोमीटर होगी. यह कॉरिडोर धनबाद को भी जोड़ेगा. जो झारखंड में स्थित है. पटना से बेतिया 165 किमी लंबे ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे के निर्माण पर 65 सौ करोड़ खर्च किये जायेंगे. वहीं वाराणसी से कोलकाता एक्सप्रेस वे के लिए दस हजार करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here