पटना के “बाइकर्स गैंग” का होगा सफाया

0
1131

राजधानी पटना मे एक खास गैंग बीते कुछ सालों से सक्रिय है जिसका नाम है बाइकर्स गैंग। नाम के अनुसार ही इस गैंग के अपराधी बाइक पर सवार होकर किसी भी आपराधिक घटना को चलते फिरते अंजाम दे देते हैं।यह गैंग पटना के अलग अलग इलाकों मे फैला हुआ है। कई बार पुलिस ने इनके सदस्यों पर लगाम लगाते हुये नकेल कसा है। मगर फिर भी इनके हौसले इतने बुलंद हैं कि बीते कुछ दिनों से गैंग का आतंक फिर से दिखना शुरू हो गया है। इस दौरान राजधानी पटना से आए दिन कहीं मोबाइल छिनतई तो कहीं चैन स्नैचिंग जैसी घटनाओं को  गैंग के अंजाम दे रहे हैं। मगर अब बाइकर्स गैंग का सफाया करने की पूरी तैयारी हो गयी है।बाइकर्स गैंग के बढ़ते मनोबल को तोड़ने के लिए सेंट्रल एसपी विनय तिवारी ने एक रणनीति के तहत पटना के 20 जगह को चिन्हित किया है. सिटी एसपी सेंट्रल विनय तिवारी का कहना है कि जल्द ही इन बाइकर्स गैंग के सदस्यों पर कार्रवाई की जाएगी. एसपी की योजना के मुताबिक पूर्व के बाइकर्स गैंग के इतिहास को देखते हुए आपराधिक मामलों में शामिल बाइकर्स गैंग के सदस्यों पर जल्द से जल्द कार्रवाई की जाएगी. जल्द ही पटना वासियों को इनके आतंक से छुटकारा मिलेगा।

कई बड़ी घटनाओं मे भी होती है संलिप्तता

आपको यहाँ बता दे कि बाइकर्स गैंग का एक नहीं बल्कि अलग अलग गैंग शहर मे फैला है।ये गैंग किंग्स ऑफ पटना, बाप्स ऑफ पटना, महाकाल के नाम से सक्रिय हैं। एक आंकड़े के अनुसार 90 फीसदी छिनतई की घटनाओं मे शामिल अपराधियों को पकड़ने मे पुलिस को सफलता नहीं मिल पाती है। इतना ही नहीं ,इस गैंग के लोग कई अन्य घटनाओ मे भी संलिप्त रहे हैं। गैंग के सदस्य जमीन या प्लॉट पर जबरन कब्जा करवाने और फायरिंग कर लोगों मे दहशत फैलाने जैसे भी आपराधिक काम करते हैं। इनका अपना एक अलग व्हाट्सएप ग्रुप होता है जिसके जरिये सारे एक जगह जमा होते हैं और प्लानिंग के तहत घटना को अंजाम देते हैं। कई बार पुलिस के हाथ पकड़ाये जाने के बाद भी ये कुछ दिन बाद सक्रिय हो जाते हैं । मगर अब पुलिस इनपर शिकंजा कसने को लेकर प्लान के तहत काम करने वाली है जिसका सकारात्मक असर भी देखने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here