बिहार में पेट्रोल की कीमत शतक के पास, डीजल भी पीछे पीछे

0
333

देशभर में पेट्रोल और डीजल के रेट में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है. सरकारी तेल कंपनियां ने पिछले 12 दिनों से तेल के दाम में प्रतिदिन इजाफा कर रही है. आज 20 फरवरी 2021, दिन शनिवार को बिहार की राजधानी पटना सहित गया, भागलपुर, मुजफ्फरपुर और पूर्णिया में पेट्रोल 37 पैसे और डीजल 38 पैसे मंहगा हो गया है. पटना में शनिवार 20 फरवरी को पेट्रोल 92.91 रुपये और डीजल 86.22 रुपये प्रति लीटर के दाम पर बिक रहा है.

सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑयल की वेबसाइट के मुताबिक 20 फरवरी को पूर्णिया में पेट्रोल 94.08 रुपये और डीजल 87.29 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गए है. वहीं मुजफ्फरपुर में पेट्रोल का भाव 93.47 रुपये प्रति लीटर और डीजल का रेट 86.71 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया है. गया में पेट्रोल 93.59 रुपये प्रति लीटर व डीजल 86.85 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है. इसके अलावा भागलपुर में पेट्रोल 94.18 रुपये प्रति लीटर और डीजल 87.39 रुपये प्रति लीटर के दाम पर पहुंच गया है.

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार भारतीय बाजार की तुलना में नेपाल में डीजल और पेट्रोल की प्रति लीटर कीमत 18 रुपये से कम रहने के कारण अररिया से लगने वाले नेपाल के सीमाई इलाकों में तस्करी का धंधा तेज है. न केवल तस्करों की ओर से पेट्रोल और डीजल की तस्करी ही बढ़ी है, बल्कि सीमा क्षेत्र में रहने वाले भारतीय बाइक सवार नेपाल पहुंच खाली बाइक की टंकी को फुल कराकर वापस लौट रहे हैं. प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में भारतीय बाइक सवारों को नेपाल के विभिन्न रास्तों से भारतीय सीमा क्षेत्र में प्रवेश करते आसानी से देखा जा सकता है.

लगातार बढ़ रहीं पेट्रोल और डीजल की कीमतों ने आम पटनावासियों को परेशान कर रखा है. दो पहिया गाड़ी चलाने वाले मध्यवर्ग के लोग, व्यावसायिक गाड़ियों के संचालक और ट्रक ऑपरेटरों को पेट्रोल और डीजल के बढ़ती कीमतों से बजट बिगड़ने लगा है.
साल 2021 में अब तक 22 बार पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ चुकी है. देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेट्रोल की किमत को लेकर कहा कि अफसोसनाक मुद्दा है और कीमतों में कमी के अलावा कोई भी जवाब लोगों को संतुष्ट नहीं कर सकता. केंद्र और राज्य दोनों को उपभोक्ताओं के लिए उचित स्तर पर खुदरा ईंधन मूल्य में कमी लाने के लिए बात करनी चाहिए. चेन्नई में वित्त मंत्री ने कहा कि OPEC देशों ने उत्पादन का जो अनुमान लगाया था, वह भी नीचे आने की संभावना है जो फिर से चिंता बढ़ा रहा है. तेल के दाम पर सरकार का नियंत्रण नहीं है. इसे तकनीकी तौर पर मुक्त कर दिया गया है तेल कंपनियां कच्चा तेल आयात करती हैं, रिफाइन करती हैं और बेचती हैं.
तिथि(फरवरी) पेट्रोल दर बदलाव डीजल दर बदलाव
18 92.24 0.33 85.50 0.32
17 91.91 0.24 85.18 0.26
16 91.67 0.29 84.92 0.35
15 91.38 0.26 84.57 0.30
14 91.12 0.28 84.27 0.32
13 90.84 0.29 83.95 0.37
12 90.55 0.28 83.58 0.36
11 90.27 0.24 83.22 0.30
10 90.03 0.29 82.92 0.26
09 89.74 0.34 82.66 0.35

वहीं अगर हम देश की बात करें तो शनिवार को दिल्ली में पेट्रोल 39 पैसे प्रति लीटर चढ़ कर 90.58 रुपये पर चला गया. डीजल भी 37 पैसे का छलांग लगा कर 80.97 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया. राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल 101.22 पर नॉटआउट है तो वहीं मध्य प्रदेश के भोपाल में अपने पहले शतक से केवल 40 पैसे दूर है. हालांकि अनूपपुर जिले में सामान्य पेट्रोल की कीमत पहले ही 100 रुपये का आंकड़ा पार चुकी है. आज यहां 100.98 रुपये लीटर बिक रहा है.

ऐसे में अब आम जनता को केंद्र और राज्य सरकारों की तरफ निगाह है. क्योंकि कुछ दिन पहले ही गैस के सिलेंडरों में भी 50 रुपये की वृद्धि हुई है. लगातार पेट्रोल डीजल और गैस पर हुई वृद्दि के बाद से आम जनता काफी परेशान है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here