बिहार में मार्च तक पीपीडी मोड़ पर खुलेंगे 500 प्रदूषण जांच केन्द्र

0
209

बिहार में अबतक पूरे राज्य में 100 प्रदूषण केंद्र खोले जा चुके हैं. मार्च के बाद और भी प्रदूषण केंद्र खोले जायेंगे। बिहार में जिला परिवहन पदाधिकारी प्रदूषण जाँच केंद्र का लाइसेंस निर्गत करेंगे। प्रदुषण केंद्र खोले जाने की प्रक्रिया काफी आसान कर दी गई है.

बता दें कि पांच-छह दिन में ही 100 से अधिक जाँच केंद्र खोले जा चुके हैं. पीपीपी मोड़ पर मार्च तक 500 प्रदूषण केंद्र खोले जाने की बात कही गई है. इंटर पास भी वाहन प्रदूषण जाँच केंद्र चला सकते हैं।

पूर्व के नियम के मुताबिक जाँच केन्द्रो पर ऑटोमोबाइल अभियंत्रण, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल डिप्लोमाधारी को ही जाँच केंद्र पर रखा जाना आवश्यक था लेकिन अब इंटरमीडिएट पास को भी इसके लिए अनुमति दे दी गई है.

सभी प्रदूषण केन्द्रो को ऑनलइन कर दिया गया है. सूबे में कूल 376 वैध प्रदूषण जाँच केंद्र हैं जिसमें से 315 केंद्र ऑनलाइन और 61 प्रदूषण जाँच ऑफलाइन था. लेकिन अब सभी को ऑनलाइन कर दिया गया है.

राज्य सरकार ने पिछले माह ही निर्णय ले लिए था की पीपीपी मोड़ पर हर प्रखंड में ही एक प्रदूषण केंद्र खोले जायेंगे। परिवहन विभाग की मुताबिक सभी शहरों में प्रदूषण केंद्र खोले जाने का निर्देश है ताकि वाहनों के प्रदूषण की जाँच आसानी से किया जा सके. राज्य में अधिक से अधिक जाँच केंद्र के लिए आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराई गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here