प्रशांत किशोर ने CM नीतीश कुमार पर कसा तंज, कहा- यह चुनाव लड़ने का नहीं कोरोना से लड़ने का समय है

0
503

बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति तेज हो गई है. इधर चुनाव आयोग ने चुनाव को तय समय पर कराने की घोषणा कर दी है. ऐसे में यह माना जा रहा है कि चुनाव तय समय पर ही होगा. चुनाव आयोग ने जिलाधिकारियों, आरक्षी अधीक्षकों के साथ मीटिंग के बाद राजनीतिक दलों के साथ बैठक भी कर चुका है. अब उनके सुझावों के आधार पर चुनाव कार्यक्रम तय करने की कवायद जारी है. वहीं, राजनीतिक दलों ने भी चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं. हालांकि राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस जैसी पार्टियां कोरोना काल में चुनाव नहीं करवाने की बात बार-बार उछाल रही हैं. बिहार में राजग के सहयोगी लोजपा ने भी चुनाव तय समय पर नहीं कराने का सुझाव दिया है.

इधर चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि कोरोना काल में चुनाव होने से स्थिति और भी खराब हो सकती है. उन्होंने कहा है कि यह चुनाव लड़ने का नहीं कोरोना से लड़ने का वक्त हैं. प्रशांत किशोर ने अपने ट्वीट में लिखा है कि देश के कई राज्यों की तरह #बिहार में भी #करोना की स्थिति बिगड़ती जा रही है लेकिन सरकारी तंत्र और संसाधनों का एक बड़ा हिस्सा चुनाव की तैयारियों में लगा है[email protected] जी ये चुनाव नहीं #करोना से लड़ने का वक़्त है। लोगों की ज़िंदगी को चुनाव कराने की जल्दी में ख़तरे में मत डालिए.

आपको बता दें कि शक्रवार को लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने चुनाव टालने की बात कही थी. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा था कि कोरोना के प्रकोप से बिहार ही नहीं पूरा देश प्रभावित है. कोरोना के कारण आम आदमी के साथ-साथ केंद्र व बिहार सरकार का आर्थिक बजट भी प्रभावित हुआ है. ऐसे में चुनाव से प्रदेश पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ेगा. संसदीय बोर्ड के सभी सदस्यों ने इस विषय पर चिंता जताई है. आपको बता दें कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी चुनाव नहीं कराने का विरोध किया है. उन्होंने कहा है कि चुनाव के नाम पर बड़ी आबादी को खतरे में झोंकना ठीक नहीं है. आयोग को इन बातों पर ध्यान रखकर फैसला लेना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here