बिहार में 1 मार्च से शुरू हो जाएंगी प्रारंभिक कक्षाएं, बच्चों और अभिभावकों को करना होगा इन नियमों का पालन

0
220

बिहार में कोरोना संकट की रफ़्तार अब धीरे धीरे कम होने लगी है. यही कारण है कि अब एक मार्च से बिहार के कक्षा एक से कक्षा पांच तक के सभी स्कूलों को खोलने का फैसला लिया गया है. बिहार के शिक्षा विभाग ने हाल ही में आयोजित संकट प्रबंधन समूह के परामर्श के बाद बिहार के प्रारंभिक कक्षाओं को शुरू करने की अनुमति दे दी है. आपको बता दें कि समूह की बैठक की अध्यक्षता करने वाले मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया कि 1 मार्च से जूनियर छात्रों के लिए स्कूल को फिर से खोलने का फैसला लिया गया है. कक्षाओं की निरंतरता या समाप्ति का फैसला करने के लिए 15 दिनों के बाद इसकी समीक्षा बैठक की जाएगी. बता दें कि अभी कक्षा छः से 12 वीं तक की कक्षाएं कोरोना गाइडलाइन के नियम और 50 प्रतिशत विद्यार्थियों के साथ खुल गए हैं.

वहीं शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि प्राथमिक स्कूलों को भी कक्षा 6 से 12 के लिए जारी किए गए कोविड-19 गाइडलाइन और सुरक्षा के लिए जारी सारे दिशानिर्देश का पालन करना होगा. प्राथमिक कक्षा के छात्रों को भी वरिष्ठ छात्रों की तरह ही स्कूल खोलने के पहले दिन दो फेस मास्क दिए जाएंगे. वर्तमान शैक्षणिक सत्र समाप्त होने वाला है. ऐसे में प्राथमिक कक्षाएं शुरू करने के सरकार के फैसले का कई अभिभावकों ने भी स्वागत किया है.

बता दें कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के सुझाव के बाद पटना शहर के निजी स्कूलों ने 1 अप्रैल को नए शैक्षणिक सत्र शुरू करने के लिए महीने के अंत तक नए प्रवेश पूरा करने के लिए जोरशोर से तैयारी शुरू कर दी है. माउंट कार्मेल हाई स्कूल और डीएवी पब्लिक स्कूल ने सोमवार को प्राथमिक समूह के लिए प्रवेश प्रक्रिया निर्धारित की है. वहीं प्राथमिक शिक्षा के निदेशक रंजीत कुमार सिंह ने कहा कि मार्च में राज्य भर के 72,000 सरकारी स्कूलों में नए छात्रों को दाखिला दिलाने के लिए प्रवेश अभियान चलाया जाएगा. वहीं बिहार के सभी मध्य विद्यालय आठ फ़रवरी से खोल दी गए थे. आपको बता दें कि 29 जनवरी को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आपदा प्रबंधन समूह की बैठक हुई थी. इस बैठक में यह निर्णय लिया गया था कि आठ फ़रवरी से कक्षा 6 से कक्षा 8 तक के राज्य के सभी मध्य विद्यालयों को खोल दिया जाएगा. वहीं पांच फ़रवरी को शिक्षा विभाग प्रधान सचिव संजय कुमार ने मध्य विद्यालयों को खोलने के सम्बन्ध में एक विस्तृत गाइडलाइन जारी किया गया था.

मिली जानकरी के मुताबिक प्राथमिक स्कूलों को भी कक्षा 6 से कक्षा 12 के लिए जारी किए गए कोविड-19 गाइडलाइन और सुरक्षा के लिए जारी सारे दिशानिर्देश का पालन करना होगा.

स्कूलों में साफसफाई की सुविधा, डिजिटल थर्मामीटर, साबुन आदि की व्यवस्था विद्यालय शिक्षा समिति करेगी. स्कूल को सेनेटाइज किया जाएगा. स्कूल कैंपस की रोजाना सफाई करनी होगी. स्कूलों में बाहरी वेंडरों के प्रवेश पर रोक रहेगी. बच्चे घर से पका हुआ लंच ले जाएंगे. स्कूलों में पानी एवं साबुन की व्यवस्था होनी चाहिए. कुंडी, डैशबोर्ड, बेंचडेस्क को निरंतर सेनेटाइज करना होगा. स्कूल बसों को रोजाना दो बार सेनेटाइज किया जाएगा.

वहीं विद्यार्थी को जिन चीजों से बचने के निर्देश दिए गए हैं वो इस प्रकार हैं.

फेस मास्क न खोलें, विशेषकर जब समूह में हों

एकदूसरे से मास्क की अदलाबदली न करें

इधर उधर न थूकें, आंखकान, नाकमुंह न छुएं

आपस में भोजन साझा नहीं करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here