पुनपुन नदी का जलस्तर हुआ कम, रिंग बांध टुटने से फिर से आ’फ’त

0
505

पटना के परसा से सटे पुनपुन नदी का जलस्तर लगातार घट रहा है जिसके बारे में अब  लोगों का कहना है कि सुरक्षा तटबंध टूटने का खतरा अब टल गया है |  लेकिन वहीं दूसरी तरफ पुनपुन के 11 रिंग बांध टूटने के बाद कई गांव जलमग्न होने से  करीब 1 लाख की आबादी सीधे तौर पर प्रभावित हो चुकी है |

बता दे कि पुनपुन नदी का जलस्तर लगातार बढ़ने से बिहार सरकार सोच में पड़ गयी थी, जो कि 1975 के बाद के दौरान बनाए गए सुरक्षा बांध पर खतरा बढ़ने की वजह से था |  सुरक्षा बांध टूटने का मतलब कि राजधानी पटना के कई इलाके 8 से 10 फीट पानी में डूब सकते थे, लेकिन अभी जलस्तर में 20 सेंटीमीटर की कमी आ जाने से सुरक्षा तटबंध टूटने का खतरा टल गया है |

अभी पुनपुन नदी का जलस्तर लगभग 41 मीटर तक आ गया है जो कि अभी भी खतरे के निशान से 3 मीटर ऊपर ही है | लेकिन इसके 11 रिंग बांध टूटने के बाद  से जिला प्रशासन अब बाढ़ प्रभावित गांवों पर पैनी नजर रखे हुए हैं, जिसके बाद बाढ़ पी’ड़ि’तों के लिए भी  व्यवस्था कर दी है |

डीएम के अनुसार -स्थानीय  क्षेत्र में राहत व् बचाव कार्य चलाए जा रहे हैं एवं  कम्युनिटी किचन के माध्यम से लोगों को भोजन मुहैया कराया जा रहा है, जबकि  दूसरी तरफ गंगा का जलस्तर भी धीरे-धीरे कम हो रहा है |  गंगा में जलस्तर कम होने के बाद देवना नाले को खोल दिया गया है जिससे कि पश्चिमी पटना का पानी गंगा में चला जाए |

बीते दिनों के अनुसार – पुनपुन नदी का जलस्तर में 1976 में सबसे ज्यादा 53 पॉइंट 91 मीटर था, जबकि इस बार का जलस्तर मात्र 30 सेंटीमीटर नीचे रह गया था | जिसकी वजह से प्रशासन के हाथ पांव फूल रहे थे, लेकिन फिलहाल पुनपुन नदी का जलस्तर घटने से प्रशासन ने राहत की सांस ले ली है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here