NEWS FLASH : पुष्पम प्रिया चौधरी ने मचाया कोहराम, बिहार की राजनीति में नई शुरुआत

बिहार में सत्ताधारी एनडीए और महागठबंधन के सियासी झगड़े और तूतूमैंमैं से अलग एक राजनीतिक दल मैदान में है जिसका नाम है प्लुरल्स. प्लुरल्स की प्रेसिडेंट पुष्पम प्रिया चौधरी हैं. पुष्पम प्रिया चौधरी ने अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के नाम का ऐलान शुरु कर दिया है. पुष्पम ने इसकी शुरुआत बिहार के कटोरिया विधानसभा क्षेत्र से की है जो कि अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित सीट है. जहां सभी राजनीतिक दल अमीर और पूंजीपति उम्मीदवार खोजते रहते हैं, ऐसे में पुष्पम प्रिया चौधरी का एक गरीब आदिवासी महिला को घर बैठे विधानसभा चुनाव का टिकट देना किसी कोहराम से कम नहीं है.

ਤਸਵੀਰ ਵਿੱਚ ਇਹ ਹੋ ਸਕਦਾ ਹੈ: 3 ਲੋਕ

पी इज फॉर पीपुल

पुष्पम प्रिया चौधरी ने अपने फेसबुक पोस्ट पर अपनी पार्टी प्लुरल्स के लिए प्रथम प्रत्याशी के नाम का ऐलान करते हुए लिखा है कि प्रारंभ करते हुए बिहार विधानसभा चुनाव के लिए प्लुरल्स की पहली प्रत्याशी, सुदूर दक्षिण पूर्व कटोरिया विधानसभा क्षेत्र 162 से सुषमा हेम्ब्रम जी. इसके साथ ही पुष्पम ने लिखा है पी इज फॉर पीपुल.

राजनीति में नई शुरुआत

सुषमा हेम्ब्रम एक आदिवासी महिला है, जिनकी कोई विशेष राजनीतिक पहचान है और नहीं सुषमा के पास बहुत ज्यादा धन संपंत्ति है, जिसकी बदौलत वो चुनाव लड़ सकें लेकिन पुष्पम प्रिया चौधरी ने उन पर भरोसा करके बिहार की राजनीति में एक नई शुरुआत कर दी है. जहां सभी छोटी बड़ी पार्टियों को फॉर्च्यूनर और स्कॉर्पियो वाले उम्मीदवार ही पसंद आते हैं, जिनकी हाथों में राडो की घड़ी हो या और मोटी सोने की चेन हो, ऐसे दौर में एक आदिवासी महिला को घर से बुलाकर टिकट देने की शुरुआत को एक अच्छी पहल मानी जा सकती है.

बताते चलें कि पुष्पम प्रिया चौधरी ने बिहार को विकसित राज्य बनाने के विजन के साथ अपनी पार्टी का गठन किया है जिसका नाम है प्लुरल्स. अपनी पार्टी की ओर से वो स्वयं सीएम पद की उम्मीदवार है. पुष्पम प्रिया के पिताजी विनोद चौधरी जदयू के एमएलसी रह चुके हैं. पुष्पम मूल रुप से दरभंगा की रहने वाली हैं. इन्होंने दुनिया के बड़े शैक्षणिक संस्थानों में शुमार लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स की डिग्री ली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here