माँ राबड़ी के मनाने पर भी नही माने तेजप्रताप, ससुर के खिलाफ ही उतरेंगे मैदान में

0
4452

अब लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान होने में भले ही बहुत कम दिनों का समय रह गया हो लेकिन लालू परिवार में अभी भी रूठने मनाने का सिलसिला जारी है. इस कारण पार्टी समेत लालू प्रसाद स्वयं काफी परेशान चल रहे हैं. लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव राजद से काफी नाराज चल रहे हैं. उनको मनाने की काफी कवायदें की जा रही हैं लेकिन सारी कोशिशें अभी तक नाकाम रही हैं. उनको मानाने के लिए माँ राबड़ी देवी ने मोर्चा संभाला लेकिन उनका भी प्रयास असफल रहा है.

rjd candidate of patliputra

गौरतलब है कि तेजप्रताप यादव की नाराजगी अपनी माँ राबड़ी देवी को चुनाव लड़वाने के लिए है. वो चाहते हैं कि सारण लोकसभा सीट से उनकी माँ और पार्टी की वरिष्ठ नेता राबड़ी देवी को चुनावी मैदान में उतारा जाए. तेजप्रताप कहते हैं कि सारण लोकसभा सीट लालू परिवार की पारंपरिक सीट है इसलिए इस सीट पर लालू परिवार का ही कोई उम्मीदवार लडेगा. जबकि आरजेडी ने सारण से तेजप्रताप के ससुर चन्द्रिका राय को अपना उम्मीदवार बनाया है. इस बात को लेकर तेजप्रताप आरजेडी से काफी नाराज चल रहे हैं.

अपनी नाराजगी के दौरान ही तेजप्रताप ने एक नई पार्टी का भी ऐलान कर दिया जिसका नाम उन्होंने अपने माता पिता के नाम पर “लालू-राबड़ी मोर्चा” रखा है. तेजप्रताप ने इस पार्टी की तरफ से आगामी लोकसभा चुनाव के लिए पांच उम्मीदवारों का नाम भी जारी कर दिया है. तेजप्रताप ने इसके साथ ही ऐलान कर दिया है कि यदि उनकी माँ राबड़ी देवी को सारण से प्रत्याशी नही बनाया गया तो वो खुद सारण से अपने ससुर चन्द्रिका राय के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरेंगे. इन सब बातों से यह तो स्पष्ट दिख रहा है कि लालू परिवार के अन्दर एक तरह का अंतर्कलह चल रहा है जिसे लालू परिवार जल्द से जल्द खत्म करना चाहेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here