रघुवंश प्रसाद सिंह ने भावुक होकर लिखी चिट्ठी, महापुरूषों की जगह एक ही परिवार के 5 लोगों की छपने लगी फोटो

0
126

राजद से इस्तीफा देने के बाद रघुवंश प्रसाद सिंह ने भावुक होकर कर एक पत्र लिखा है. रघुवंश प्रसाद सिंह ने अपनी चिट्ठी में पीड़ा जाहिर करते हुए लालू परिवार को आड़े हाथ लिया है. आपको बता दें कि कुछ दिन पहले भी एक कोरे कागज पर रघुवंश प्रसाद ने राजद सुप्रीमो लालू यादव को अपना इस्तीफा सौंपा था जिसे लालू यादव ने स्वीकार करने से मना कर दिया था और कहा था कि मैं और मेरा परिवार आपके स्वास्थ्य की कामना करते हैं. आप जल्दी ही स्वस्थ्य होकर आईए तब हम मिलकर बात करते हैं.

अब एक बार फिर से रघुवंश प्रसाद सिंह भावुक होकर चिट्ठी लिखा है कि वर्तमान में राजनीति में इतनी गिरावट आ गई है, जिससे लोकतंत्र का खतरा है. उन्होंने लिखा कि महात्मा गांधी बाबू जयप्रकाश, डॉ. लोहिया, बाबा साहेब और जननायक कर्पूरी ठाकुर के नाम और विचारधारा पर लाखों लोग लगे रहे, कठिनाईयां सहीं, लेकिन डगमग नहीं हुए, लेकिन अब समाजवाद की जगह सामंतवाद, जातिवाद, वंशवाद, परिवाद, संप्रदायवाद आ गया. यह सभी उतनी ही बुराईयां है, जिसके खिलाफ समाजवाद का जन्म हुआ था.

रघुवंश प्रसाद सिंह ने आगे लिखा है कि अब इन पांचों महान पुरुष की जगह पर एक ही परिवार के पांच लोगों की फोटो छपने लगी है. पद हो जाने से धन कमाना और धन कमाकर ज्यादा लाभ का पद खोजना. राजनीति की परिभाषा के अनुसार इन सभी बुराइयों से लड़ना है. उन्होंने लिखा कि राजद संगठन को मजबूत करने के उद्देश्य से ही पार्टी में संगठन और संघर्ष को मजबूत करने के लिए लिखा, लेकिन पढ़ने तक का कष्ट नहीं किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here