रेल मंत्रालय ने बताया कि Railway भर्ती प्रक्रिया में क्यों हो रही है देरी, जानिए कारण

0
105

पिछले दिनों रेल मंत्रालय ने रेलवे में विभिन्न पदों के लिए रिक्तियां निकाली थी. रेलवे ने अनेक पदों के लिए 1.36 लाख रिक्तियां निकाली थी जिसमें 2.5 करोड़ आवेदन प्राप्त हुए हैं. रेलवे की तरफ से नौकरियों के अंतिम रूप देने में ज्यादा समय लगने के कारण परीक्षार्थियों ने सोशल मीडिया में जल्द रिक्तियों को पूर्ण करने की बात कहने लगे.

रेलवे मंत्रालय की तरफ से जारी आधिकारिक रिपोर्ट की मानें तो अधिक संख्या में आवेदन पत्रों (Applications) के आ जाने और कोविड-19 (COVID-19) महामारी की वजह से रेलवे में भर्ती की प्रक्रिया में इतनी देरी हुई है. इस बार मंत्रालय को 1.36 लाख रिक्तियों के लिए लगभग 2.5 करोड़ आवेदन प्राप्त हुए हैं. रेलवे (Railway) मंत्रालय से जुड़े अधिकारी ने बताया कि भर्ती प्रक्रिया में इतनी देरी होने की मुख्य वजह यही है.

आपको बता दें कि लेवल 1 की 1.3 लाख नौकरियों के लिए 1.15 करोड़ लोगों ने और एनटीपीसी (NTPC) की 35 हजार नौकरियों के लिए 1.26 करोड़ लोगों ने आवेदन किया है. इसको लेकर मंत्रालय के अधिकारी का कहना है की सबसे ब़डी वजह यह है की लेवल 1 की 1.3 लाख के लिए 1.15 करोड़ लोगों ने और NTPC की 35 हजार नौकरियों के लिए 1.26 करोड़ लोगों ने आवेदन किया है.

रेलवे की तरफ से जारी रिपोर्ट में यह बताया गया है कि असिस्टेंट लोको पायलट परीक्षा की प्रक्रिया शुरू हो गई है. इसमें 50 हजार उम्मीदवारों का चुना जा चुका है. वहीं दूसरी तरफ 40 हजार उम्मीदवारों को नियुक्ति पत्र भेजे जा चुके हैं. इसके साथ ही अब तक 20 हजार उम्मवारों को प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है. बचे हुए उम्मीदवारों को प्रशिक्षण के लिए बुलाया जा चुका है.

रेलवे मंत्रालय ने परीक्षार्थियों को भर्ती के सम्बंधित गलत अफवाह से इंकार किया है और साथ ही रेल मंत्रालय की आधिकारिक रिपोर्ट के अनुसार आवेदनों की अधिक संख्या और कोरोना के कारण अधिक समय लग रहा है इस बार रेलवे को 2.5 करोड़ आवेदन प्राप्त हुए हैं जबकि 1.36 लाख रिक्तिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here