रेलवे अब वेटिंग टिकट से छुटकारा दिलाने पर कर रही है काम, बनाई यह योजना

0
198

कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान किया गया था. जिसके बाद से पूरे देश में यातायात की सेवा बंद कर दी गई थी. ऐसे में रेलवे की भी सुविधा बंद कर दी गई थी. अब जब लॉकडाउन में छूट दी जा रही है तो ट्रेनों के परिचालन को एक बार फिर से शुरू किया जा रहा है. ऐसे में यात्रियों के एक बार फिर से वेटिंग टिकट की समस्या सामने आ रही है. बिहार और उत्तर प्रदेश के प्रवासी मजदूरों को ट्रेनों के टिकट नहीं मिल रहे हैं.

वर्तमान में अगर बिहार के खुलने वाली ट्रेनों की जिक्र करें तो ज्यादातर ट्रेनों की वेटिंग लिस्ट एक महीने से लेकर डेढ़ महीने तक की है ऐसे में कोई अगर यात्रा करना चाहे तो वह कैसे यात्रा कर सकता है. हालांकि रेलवे ने इसके लिए एक योजना बनाई है जिसके तहत मौजूदा ट्रेन जिसकी वेटिंग लिस्ट बहुत ज्यादा है उसके लिए एक और ट्रेन की व्यवस्था की जाएगी. उस ट्रेन का नंबर भी वही होगा और वह मुख्य ट्रेन के प्रस्थान के एक घंटे बाद चलेगी. यह ट्रेन उसी स्टेशन या उसी रूट पे जाएगी जहां इस ट्रेन का वेटिंग टिकट है. इससे लाभ यह होगा कि स्टेशन पर आए यात्री उसी समयावधी में अपने गंतव्य तक पहुंच सकते हैं.

इस योजना के बारे में सबसे पहले पूर्व रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बताया था. इतनी वेटिंग लिस्ट होने के कारण यह योजना सही से काम नहीं कर पाई. इसके जगह पर फिर एक नई योजना के बारे में सोचा गया जिसमें यात्रियों को विकल्प दिखाए गए कि अगर आपका इस रूट की ट्रेन में टिकट कंफर्म नहीं हो रहा है तो दूसरे रूट से आप अपना टिकट कंफर्म कर सकते हैं लेकिन जब रेलवे का पिक आवर आया तो यह भी योजना औंधे मुंह गिर गई. सरकार की यह दोनों योजना पूरी तरह से फेल हो गई.

हालांकि अभी देश में पूरी तरह से ट्रेनों का परिचालन शुरू नहीं हुआ है तो ऐसे में क्लोन ट्रेने चलाने की बात कही जा रही है. बताया जा रहा है कि रेलवे दिल्ली से मुंबई रूट पर इस योजना को शुरू किया जा सकता है. रेलवे यह मान रही है कि इस रूट पर जीरो वेटिंग लिस्ट का लक्ष्य रखा गया है. बताया जा रहा है कि इस रूट पर राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन में सबसे ज्यादा वेटिंग रहती है ऐसे में क्लोन ट्रेन चला कर टिकट कंफर्म किया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here