बिहार के राकेश पाण्डे ‘डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी इन इंटरनेशनल रिलेशंस’ से हुए सम्मानित

0
711

छोटे से क्षेत्र से उठकर आज पूरे देश-विदेश में सेवा का सन्देश देने वाले बिहार के मोतिहारी के निवासी और ब्रावो फार्मा  (Bravo Pharma) के चेयरमैन राकेश पांडेय(Rakesh Pandey) को भारतीय पर्यावास केंद्र में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान सम्मानित किया गया. उन्हें ‘डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी इन इंटरनेशनल रिलेशंस’ से नवाजा गया.
राकेश पांडेय लन्दन(London) में रहते हैं. लन्दन में रहकर वे आज पूरे देश से समाज सेवा के द्वारा जुड़े हैं. वे गरीब और दिव्व्यांग बच्चों के लिए मसीहा है जो उन्हें नई जिंदगी देते हैं. राकेश पांडेय समाजसेवी के साथ ही साथ वे एक बिजनेसमैन हैं. वे अपने अर्जित धन का कुछ हिस्सा समाज के उन तबक़ों में लगाते हैं जिससे उनकी जिंदगी बदल जाती है. राकेश पाण्डे लन्दन जाने के बावजदू भी अपने देश से जुड़े हैं. उन्होंने बिहार के ही मसौढी के शहीद जवान संजय सिन्हा के परिजनों को आर्थिक सहायता दिया था.

वे कई देशों में कैंसर से पीड़ित बच्चों का इलाज के लिए सहयोग कर चुके हैं. दिव्यांग बच्चों के लिए उन्होंने हाल ही में कृत्रिम अंग भी उपलब्ध कराया था. बता दें कि वे 2004 में ईपीसी के क्षेत्र में कारोबार की शुरुआत की थी और 2009 में उन्होंने हेल्थकेयर में आ गए. इनकी कंपनी में किफायती दवाएं बनती है. ब्रावो फार्मा के चेयरमैन राकेश पांडेय ने जानकारी दी कि महात्मा गांधी(Mahatma Gandhi) के 150वीं जयंती के मौके पर चंपारण(Champaran) में वे 5000 दिव्यांगों को कृत्रिम हाथ, पैर और कैलिपर देने की योजना बनाई है. उन्होंने कहा है कि चम्पारण के सभी दिव्यांगों के लिए व्यवस्था की गई है. आगे भी इस प्रकार का शिविर आ आयोजन करके ऐसे जरूरतमंदों की मदद की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here