बिहार में कोरना और बाढ़ के कहर के बीच में रामविलास पासवान ने कही यह बड़ी बात

0
226

उत्तर बिहार की ज्यादातर नदियां खतरे की निशान से ऊपर बह रही है. ऐसे में प्रदेश के 11 जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है. करीब 12 लाख लोग इस बाढ़ की चपेट में आ गए हैं. केंद्रीय खाद्य, आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि इस वक्त बिहार में कोरोना और बाढ़ का कहर जारी है. बिहार के लोगों पर इस वक्त दोहरी मार पड़ी है.

उन्होंने कहा कि इस वक्त बिहार के कई जिले पानी में डूबे हुए हैं. जिससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. बिहार के हालात को खराब बताते हुए केंद्रीय मंत्री ने भरोसा दिलाया कि बिहार के लोगों के लिए राशन की कमी नहीं होने दी जाएगी.

केंद्रीय मंत्री रामविलिास पासवान ने कहा है कि यह राज्य सरकार के ऊपर है कि वह कितना अनाज उठाती है और क्या करती है ? लेकिन, उन्होंने अपनी तरफ से बिहार सरकार को सुझाव दिया कि एक ही बार में अगर दो से तीन महीने का राशन दे दिया जाए तो बाढ़ प्रभावित लोगों को इससे काफी मदद मिलेगी. उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित व्यक्ति अगर राहत शिविर में या फिर कहीं और सुरक्षित स्थान तक जाएगा तो उसका फायदा उसे मिलेगा.

आपको बता दें कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के अंतर्गत पहले से ही देश के 80 करोड़ के करीब लोगों को 2 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से गेहूं और 3 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से चावल दिया जाता रहा है. इस तरह पांच किलोग्राम अनाज गरीब तबके को पहले से दिया जाता रहा है. इधर लॉकडाउन के दौरान 80 करोड़ लोगों को अलग से पांच किलों अनाज फ्री मे देने को कहा गया है. अब रामविलास पासवान ने कहा है कि दो से तीन महीने का पूरा अनाज बिहार सरकार एक साथ इन लोगों को दे दे, जिससे कोरोना और बाढ़ की दोहरी मार के दौरान बिहार के लोगों को राहत मिल सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here